• Nationbuzz News Editor

जिला अस्पताल में राज्यमंत्री ने किया नवनिर्मित इमरजेन्सी भवन का उद्घाटन


बदायूं। अब तक चलने वाली इमरजेन्सी मानक के अनुसार नहीं थी। नवनिर्मित इमरजेन्सी भवन के ओपीडी के साथ माइनर ओटी, ड्रेसिंग रूम, इंजेक्शन रूम, डाॅक्टर्स रूम, स्टाफ रूम के अलावा मरीजों की गहन चिकित्सकीय सेवा देने के लिए 07 बेड का आईसीयू भी बनाया गया है। यह सारी सुविधाएं एक छत के नीचे मरीजों को मिलने के लिए तैयार हैं। अब यहां 24 घंटे मरीजों की निगरानी की जा सकेगी, जिससे उनका बेहतर इलाज हो सकेगा। अस्पताल में मरीजों को और बेहतर सुविधाएं देने हेतु ईसीजी, अल्ट्रासाउंड, सिटीस्कैन एवं रक्त जांच सहित अन्य बहुत सी सुविधाएं भी उपलब्ध है।


शनिवार को नगर विकास एवं गरीबी उन्मूलन के राज्यमंत्री/नगर विधायक महेश चन्द्र गुप्ता एवं भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक भारती ने जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी के साथ जिला पुरुष अस्पताल में नवनिर्मित इमरजेन्सी भवन का लोकार्पण एवं फीता काटकर उद्घाटन किया। राज्यमंत्री ने कहा कि डाॅक्टर भगवान का ही दूसरा रूप होते हैं, जो मरीज़ को मौत के मुंह से बाहर निकालकर लाते हैं। जब कोई बीमार हो या किसी पीड़ा से ग्रस्त हो तो पहले भगवान का नाम मुंह से निकलता है, फिर डॉक्टर में ही उसे भगवान दिखता है। अगर मरीज को मुश्किल समय में एक अच्छा डॉक्टर मिल जाए तथा प्यार और मानवता की भावना से उसकी देखभाल करे तो उससे ज्यादा कुछ भी अच्छा नहीं। हमारे डॉक्टर बहुत ही बढ़िया और मेहनती हैं, जो मरीजों को अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इसके साथ ही अच्छा सोचो-अच्छा होगा, आज नहीं तो कल होगा।

जिलाध्यक्ष ने कहा कि अस्पताल में नई-नई सुविधाएं मरीजों को प्रदान की जा रही हैं, जिससे बड़ी संख्या में मरीज़ सरकारी चिकित्सालयों पर भरोसा बना रहे हैं। नई इमरजेन्सी खुल जाने से न केवल मरीजों की अच्छी माॅनिट्रिंग की जा सकेगी, बल्कि उनकी परेशानी को समय रहते पहचानकर उनका बेहतर उपचार भी किया जा सकेगा। सरकार मरीजों को बेहतर सुविधाएं देने हेतु निंरतर प्रयास कर रही है।

डीएम ने कहा कि मरीजों को पहले से और बेहतर सुविधाएं देने हेतु उनकी ओर से चिकित्सकों को निर्देशित किया गया है। सरकारी मंशा के अनुरूप चिकित्सकीय सेवाओं को और बेहतर बनाया जा रहा है। सभी लाभार्थी सरकारी योजनाओं का भरपूर लाभ उठाएं। आयुष्मान भारत मिशन अन्तर्गत चयनित लाभार्थियों को पाँच लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की व्यवस्था है।

इस अवसर पर हीरालाल कश्यप, सुधीर श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0यशपाल सिंह, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ0 बीबी पुष्कर सहित अन्य चिकित्सक मौजूद रहे।