• nationbuzz3

लखनऊ, बकरीद पर कोविड गाइडलाइन के साथ होगी ईद-उल-अजहा की नमाज 5 लोग ही अदा करेंगे


यूपी लखनऊ। गाइडलाइन के मुताबिक सुबह 8 बजे से 11 बजे के बीच कोविड प्रोटोकॉल के तहत होगी नमाज। एक स्‍थान पर 50 से ज्‍यादा नहीं जुटेंगे लोग ईद-उल-अजहा का त्योहार बुधवार को पूरी अकीदत के साथ मनाया जाएगा। कोरोना वायरस महामारी के चलते सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए मस्जिदों में एक बार में 5 लोग ही नमाज अदा करेंगे। गले मिलकर ईद की मुबारकबाद देने के बजाए दूर से मुबारकबाद देने की अपील की जा रही है।


कोरोना से पहले ऐशबाग ईदगाह, टीले वाली मस्जिद, आसिफी इमामबाड़ा सहित तमाम मस्जिदों में लाखों लोग नमाज में शामिल होते थे। इस बार ऐशबाग ईदगाह, टीले वाली मस्जिद में सिर्फ 5 लोग ही नमाज पढ़ेंगे। कोरोना महामारी से बचाव के लिए लोगों का मिलना जुलना भी कम होगा।


मरकजी चांद कमेटी फरंगी महल के अध्यक्ष एवं ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी ने तमाम देशवासियों को त्योहार की मुबारकबाद पेश करते हुए अवाम की तारीफ की। कहा जिस तरह से रमजानुल मुबारक में रोजेदारों ने घर मे रहकर लॉकडाउन पर अमल किया। ईद-उल-फितर में भी सरकार की हिदायतों का पालन किया। इसी तरह ईद-उल-अजहा में भी इन हिदायतों पर अमल करें। मौलाना ने कहा कि हजरत इब्राहीम और हजरत इस्माईल (अलै.) की शानदार कुर्बानी की याद बकरीद का त्यौहार मुसलमान बड़ी धूमधाम से शरअई आदेश की रौशनी में हर साल 10 जिलहिज्जा को मनाते हैं। हर साहिब-ए-निसाब मुसलमान जानवर की कुर्बानी के फरीजे को अंजाम देता है। उसका गोश्त अपने रिश्तेदारों, पड़ोसियों और गरीबों में बांटता है।


उन्होंने कहा कि महामारी को देखते हुए इस बार मस्जिद में केवल 5 लोग एक बार में नमाज अदा करें। मस्जिद में भी सफों में दो गज की दूरी और मास्क का एहतिमाम करें।