• nationbuzz3

जिले के 125 खुराफातियों शस्त्र लाइसेंस निरस्त, पत्रावलियां पर छानबीन जारी


यूपी बदायूं। एसएसपी ने ऐसे खुराफातियों की सूची तैयार कराई है, जिनके पास शस्त्र लाइसेंस है या फिर उन्होंने शस्त्र लाइसेंस लेने के बाद कोई अपराध किया हो। जिले में ऐसे 146 खुराफाती निकले हैं। एसएसपी ने इन सभी के खिलाफ संस्तुति कर पत्रावली भेजी प्रशासन को भेजी थी, जिनमें 125 के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं। बाकी पत्रावलियां पर छानबीन चल रही है।


एसएसपी संकल्प शर्मा ने पिछले साल यह अभियान शुरू कराया था। इसके तहत उन्होंने हर थानेदार को आदेश दिए थे कि जिले में ऐसे लोगों की सूची बनाई जाए जो किसी न किसी मामले में आरोपी हैं। उनके खिलाफ लूट, हत्या, डकैती, एनडीपीएस, धोखाधड़ी या मारपीट के आरोप में मामले दर्ज हैं और उनके नाम बंदूक, राइफल, रिवाल्वर या पिस्टल के लाइसेंस हैं। हर थाने की पुलिस ने जब रिकॉर्ड खंगालना शुरू किया तो जिले में 146 ऐसे लोगों के नाम निकलकर सामने आए, जिनके खिलाफ एक या उससे अधिक आपराधिक मामले दर्ज पाए गए। इसका पूरा रिकॉर्ड तैयार किया गया। उनके खिलाफ कितने मामले में कौन-कौन सी धाराओं में एफआईआर दर्ज हुई थी। ये शामिल करते हुए एसएसपी की ओर से सभी 146 लोगों के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कराने की संस्तुति करते हुए डीएम को रिकॉर्ड भेजा गया।


इस पर डीएम ने कार्रवाई करते हुए 125 लोगों के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं। पुलिस ने लाइसेंस निरस्त होने के बाद उनके असलहे जमा कराना शुरू कर दिए हैं। अब तक 120 लोगों के लाइसेंस जमा करा लिए गए हैं। जबकि पांच अपराधियों ने अभी तक अपने लाइसेंस जमा नहीं किए हैं। पुलिस इसकी तैयारी में जुटी हुई है।

तीन थाना क्षेत्रों में नहीं निकले अपराधियों के नाम लाइसेंस

जिले के 21 थानों में तीन थाने ऐसे हैं, जहां किसी अपराधी के नाम शस्त्र लाइसेंस नहीं है। इनमें सिविल लाइंस, उझानी और मुजरिया थाना क्षेत्र के किसी लाइसेंस धारक पर आपराधिक कार्रवाई का मामला नहीं है। जबकि कोतवाली में नौ, कुंवरगांव-एक, कादरचौक- एक, उसहैत- सात, मूसाझाग- आठ, दातागंज- तीन, अलापुर-10, उसावां-एक, हजरतपुर -तीन, बिसौली- 11, वजीरगंज- सात, फैजगंज बेहटा- छह, सहसवान- 20, जरीफनगर- पांच, बिल्सी- 14, इस्लामनगर- पांच और उघैती में 14 लाइसेंस निरस्त हुए हैं।


ये लाइसेंस होंगे निरस्त

एसएसपी की संस्तुति के बावजूद अभी तक 21 लाइसेंस निरस्त नहीं हुए हैं। इनमें बिनावर के दो, कुंवरगांव के दो, उसहैत में दो, अलापुर में पांच, उसावां में तीन और हजरतपुर में सात लाइसेंस शेष बचे हैं। इनकी संस्तुति गई हुई है।


असलहे जमा कराने में अलापुर पुलिस फिसड्डी

एसएसपी संकल्प शर्मा ने ये अभियान इसलिए शुरू किया था कि अपराधी आगे किसी और घटना को अंजाम न दें। जिले के 17 थानों की पुलिस ने जो लाइसेंस निरस्त हो गए। सभी असलहे जमा करा लिए लेकिन अलापुर थाना क्षेत्र के पांच लोगों के लाइसेंस निरस्त हो चुके हैं। उनमें किसी का असलहा जमा नहीं हुआ है।

हमने अभियान शुरू करने के बाद से ही ऐसे लोगों को चिह्नित करने का काम शुरू कर दिया था जिनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। कई लोगों पर यह मामले लाइसेंस लेने के बाद भी दर्ज हुए हैं तो कुछ ने सच्चाई छुपाकर लाइसेंस लिया होगा। अब ऐसे सभी लाइसेंस निरस्त किए जाएंगे। इनकी संख्या अभी और बढ़ेगी। संकल्प शर्मा, एसएसपी