• nationbuzz3

मनोहर हत्याकांड में 3 गिरफ्तार दो मार्च को गोली मारकर हत्या की वारदात का पुलिस ने किया खुलास


बदायूं। मनोहर हत्याकांड में 3 गिरफ्तार दो मार्च को युवक की गोली मारकर हत्या की वारदात का पुलिस ने खुलासा किया है पुलिस ने तीन आरोपियों को पकड़ा है, इनमें एक हिस्ट्रीशीटर भी शामिल है। पुलिस के मुताबिक, वारदात की वजह हिस्ट्रीशीटर व गांव के प्रधान की रंजिश बनी। प्रधान को फंसाने की साजिश में हिस्ट्रीशीटर ने इस घटना को अंजाम दिया था। वारदात में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद कर लिया है।


उघैती के रियोनाई गांव में रहने वाले मनोहर पाल (30) की दो मार्च की रात हत्या कर दी गई थी। वारदात उस वक्त हुई, जब मनोहर अपने खेत की रखवाली करने गया था। जबकि उसकी लाश दूसरे दिन पगडंडी पर पड़ी मिली थी। परिजनों ने किसी से रंजिश की बात से इंकार किया तो पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा कायम कर लिया।


यह थी पूरी साजिश

पुलिस की जांच में हिस्ट्रीशीटर प्रेमपाल उर्फ चौधरी का नाम सामने आया है। आरोपी ने पूछताछ में हत्याकांड को अंजाम देने की बात कबूली। यह भी बताया कि गांव के प्रधान खुशीराम शाक्य से उसकी रंजिश चल रही थी। इसलिए उसने साजिश रची थी। इसके तहत मनोहर पाल को रात में खेत पर घेरा और उससे परिजनों को फोन कराया कि खुशीराम समेत उसके साथियों ने अपहरण कर लिया है और हत्या कर देंगे। इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई। वारदात में सत्यपाल निवासी गांव खंडवा व भवीपुर गांव का भारत के अलावा खंडवा का रूपराम भी शामिल था। रूपराम फिलहाल पुलिस के हाथ नहीं लगा है।


टीम को मिला 15 हजार इनाम

एसएसपी ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर प्रेमपाल के खिलाफ लूट, हत्या, डकैती व आर्म्स एक्ट के जिलेभर में 23 मुकदमे दर्ज हैं। साजिश के तहत हत्या हुई थी। टीम को 15 हजार रुपये का इनाम दिया गया है। टीम में स्वाट टीम प्रभारी धर्वेंद्र कुमार, हेड कांस्टेबल सचिन कुमार झा, शराफत हुसैन, लोकेंद्र कुमार, सचिन कुमार, मनीष कुमार, भूपेंद्र कुमार, आजा, कुशकांत कुमार, अतेंद्र कुमार व रिजाबुल हसन तुर्क शामिल हैं।