• nationbuzz3

BJP प्रत्याशी की गाड़ी से EVM मिलने पर EC की कार्रवाई, 4 अफसर सस्पेंड, बूथ पर फिर से होगी वोटिंग


खबर देश। गुवाहाटी: असम विधानसभा चुनावों में EVM मशीनों को लेकर बड़ा विवाद खड़ा हो गया है. चुनाव आयोग ने यहां की राताबारी सीट के एक पोलिंग स्टेशन पर फिर से वोटिंग कराने की घोषणा कर दी है. यहां की पोलिंग टीम भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार की कार से ईवीएम लेकर स्ट्रॉन्ग रूम पर पहुंची थी, जिसके बाद करीमगंज में हिंसा भड़क गई थी. राताबरी सीट इस जिले में ही आती है. टीम के सदस्यों को चुनाव आयोग ने बर्खास्त कर दिया है. सूत्रों ने इसकी जानकारी दी है।


जिस कार में पोलिंग टीम के सदस्य ईवीएम लेकर पहुंचे थे, वो कार पथरकंडी के बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदु पॉल की थी. इस घटना को लेकर विपक्षी पार्टियों ने सत्तारूढ़ बीजेपी पर घपला करने का आरोप लगाया है।


असम में गुरुवारु को दूसरे चरण के तहत मतदान हुआ था, जिसमें 77 फीसदी वोटर टर्नआउट रहा था और कहीं-कहीं हिंसा की खबरें आई थीं. इसी क्रम में करीमगंज में भी हिंसा हुई थी और घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया था।


यह घटना तब हुई, जब राताबारी में पोस्टेड चुनाव आयोग की पोलिंग टीम की कार रास्ते में खराब हो गई. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि टीम वोटिंग होने के बाद पोलिंग स्टेशन से ईवीएम लेकर स्ट्रॉन्ग रूम जा रही थी. कार खराब होने के बाद वहां पीठासीन अधिकारी ने कार बदलने के लिए सेक्टर ऑफिसर को फोन किया, जहां उन्हें एक दूसरी कार भेजने का आश्वासन दिया गया।


हालांकि, कार का इंतजार करने के बजाय यहां पोलिंग स्टाफ ने एक प्राइवेट कार में लिफ्ट ले ली. कृष्णेंदु पॉल के चुनावी हलफनामे में उनकी पत्नी मधुमिता पॉल के नाम से यह कार रजिस्टर्ड है (रजिस्ट्रेशन नंबर: AS10B0022).



जब यह कार स्ट्रॉन्ग रूम वाले इलाके में पहुंची तो विपक्ष के समर्थकों ने गाड़ी को पहचान लिया और इसपर हमला बोल दिया. ड्राइवर के साथ पोलिंग स्टाफ भी अपनी जान बचाने को भगे. जिला प्रशासन को यहां पर पुलिस की मदद से भीड़ में काबू लाने और गाड़ी, ईवीएम और पोलिंग स्टाफ को अपनी सुरक्षा में लेने की जरूरत पड़ी. चुनाव आयोग के सूत्रों ने बताया कि घटना में शामिल पोलिंग स्टाफ को बर्खास्त कर दिया गया है. वहीं, पोलिंग स्टेशन 149 में दोबारा चुनाव की घोषणा कर दी गई है।


राहुल गांधी ने इसको लेकर बीजेपी के पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने इस मामले पर ट्वीट कर सवाल उठाए हैं। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा कि 'EC की गाड़ी ख़राब, बीजेपी की नीयत ख़राब, लोकतंत्र की हालत ख़राब!'


हालांकि, आयोग ने कहा है कि इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन पूरी तरह से सुरक्षित है और सील आदि दुरुस्त है। लेकिन इस मसले पर सियासत कम होता नहीं दिख रहा है। इस घटना को लेकर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि चुनाव आयोग को इस तरह की शिकायतों पर निर्णायक कार्रवाई करनी चाहिए। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि सभी राष्ट्रीय दलों द्वारा ईवीएम की जरूरतों के उपयोग का पुनर्मूल्यांकन किया जाना चाहिए।


  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube
© Copyright ® All rights reserved Nation Buzz 2017 - 2020