• Nationbuzz News Editor

सपा सांसद आजम खान धोखाधड़ी मामले में बीवी-बेटे संग अदालत के आदेश पर दो मार्च तक न्यायिक हिरासत में


यूपी। रामपुर: समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद आजम खान, उनकी पत्नी तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को अदालत के आदेश पर दो मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. आजम के खिलाफ अदालत ने कुर्की वारंट जारी कर दिए गए थे. यह वारंट अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाने से संबंधित मामले में जारी किए गए थे. बुधवार को इस मामले में आजम, उनकी पत्नी व रामपुर से विधायक तंजीन फातिमा और बेटे ने सरेंडर कर दिया.


सांसद आजम खान और उनकी विधायक पत्नी व बेटे के अदालत में सरेंडर के बाद कचहरी परिसर की सुरक्षा बढ़ा दी गई. जिले के सभी सपा नेता और पदाधिकारी कचहरी में इकट्ठा रहे. इस दौरान सभी गेट पर हर आने-जाने वाले की तलाशी ली गई.


एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट ने मंगलवार को तीनों के कुर्की वारंट के साथ ही गिरफ्तारी के लिए गैर जमानती वारंट भी जारी किए थे. यह मुकदमा बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने पिछले साल दर्ज कराया था, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि अब्दुल्ला के दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाए गए हैं. एक जन्म प्रमाण पत्र रामपुर से तो दूसरा लखनऊ से जारी किया गया है.


सहायक शासकीय अधिवक्ता राम औतार सिंह सैनी ने बताया, "मुनादी के बाद भी हाजिर न होने पर कोर्ट ने सांसद आजम, विधायक डॉ. तंजीन और पुत्र अब्दुल्ला आजम की संपत्ति कुर्क करने के आदेश दिए हैं. मामला अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाणपत्र होने का है."


बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने दर्ज कराई थी शिकायत

बता दें कि बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने अब्दुल्ला के साथ ही उनके पिता आजम खान और मां डॉ. तंजीन फातिमा को भी मुकदमे में नामजद किया था. आरोप लगाया गया कि इन दोनों ने जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए झूठे शपथ पत्र लगाए. अदालत ने इस मामले में पहले भी आजम खान के खिलाफ कुर्की के नोटिस जारी किए थे. तब पुलिस ने आजम खान के मोहल्ले में मुनादी कराई थी, लेकिन इसके बाद भी वह कोर्ट में हाजिर नहीं हुए.


एसपी रामपुर ने कानून व्यवस्था बिगड़ने की आशंका जताई

एसपी रामपुर ने कानून व्यवस्था बिगड़ने की आशंका जताई है. उन्होंने कहा है कि आजम को रामपुर जेल की जगह किसी अन्य जिले की जेल में रखा जाए. आजम खान मुरादाबाद और बरेली जेल में लाए जा सकते हैं. इसे लेकर जेल प्रशासन भी चौकन्ना हो गया है. अधिकारी पल-पल की जानकारी ले रहे हैं. मुरादाबाद मंडल के सभी आला अधिकारी भी सतर्क हो गए हैं.