• nationbuzz3

जल निगम भर्ती घोटाला: सीबीआई कोर्ट में पेशी के बाद सीतापुर जेल लौट गए सपा नेता आजम खान


यूपी। सीतापुर यूपी के जल निगम भर्ती घोटाले को सपा सांसद आजम खान की आज सीबीआई कोर्ट में पेशी हुई। उन्हें व्यक्तिगत रूप से एंटी करप्शन कोर्ट में पेश किया गया।

कोर्ट ने आज़म खान को चार्जशीट की कॉपी दी। जो आजम खान के खिलाफ जालसाज़ी, आपराधिक साज़िश की धाराओं में दाखिल हुई थी। इस पर चार्जशीट पर कोर्ट संज्ञान ले चुकी है। सारे दस्तावेज़ भी आज सीबीआई की एन्टी करप्शन कोर्ट में पेश किए गए। आज से जल निगम भर्ती घोटाले मामले में आज़म खान का ट्रायल शुरू हो गया है। आगे से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये ही आजम खान की पेशी होगी। मामले की अगली सुनवाई 29 नवंबर को होगी।


वहीं एसआईटी के वरिष्ठ लोक अभियोजक ओम प्रकाश राय के मुताबिक, 19 जुलाई, 2021 को इस मामले में सपा सांसद आजम खान को जरिए वीडियो कान्फ्रेंसिंग न्यायिक हिरासत में लिया गया था। 25 अप्रैल, 2018 को इस मामले की एफआईआर लखनऊ की एसआईटी थाने में निरीक्षक अटल बिहारी ने दर्ज कराई थी। जिसमें आजम खान के साथ ही तत्कालीन ओएसडी सैय्यद आफाक अहमद, नगर विकास उप्र शासन के तत्कालीन सचिव श्रीप्रकाश सिंह, उप्र जलनिगम के तत्कालीन प्रबंध निदेशक प्रेम प्रकाश आसूदानी व तत्कालीन मुख्य अभियंता अनिल कुमार खरे तथा भर्ती प्रक्रिया मे शामिल अन्य को नामजद किया गया था।


क्या है जल निगम भर्ती घोटाला?

जानने योग्य है कि ये मामला अखिलेश यादव की सरकार में जल निगम की भर्तियों में घोटाले का है। उस वक्त आजम खान जल निगम के चेयरमैन थे, लिहाज़ा उनको इसमें आरोपी बनाया गया था। जल निगम में 122 सहायक अभियंता, 853 अवर अभियंता, 335 क्लर्क, 32 आशुलिपिक समेत कुल 1300 पदों पर भर्तियों में घोटाले का आरोप लगा था। सरकार इस मामले में 122 अभियंताओं को बर्ख़ास्त कर चुकी है।