• nationbuzz3

श्रावण मास के पहले सोमवार के लिए शिवालयों में जलाभिषेक का सिलसिला जारी रहा



बदायूं। कोरोना काल के दो साल गुजरने के बाद शिवालयों में श्रावण मास के पहले सोमवार को कावड़ियों के अलावा शिवभक्त जलाभिषेक को लेकर उत्साहित हैं। सुबह से शिवालयों में बम बम भोले के जयकारों की गूंज है। शहर के गौरीशंकर देवालय के अलावा बिरुआवाणी मंदिर, उझानी के बुर्रा फरीदपुर एवं बिसौली वजीरगंज, इस्लामनगर के स्थानीय शिवालयों में सुबह से जलाभिषेक के लिए भक्तों का आने जाने का सिलसिला जारी है। बरेली-मथुरा हाईवे बम-बम भोले के जयघोष से गूंजता रहा। वाहनों पर लगे डीजे साउंड सिस्टम पर भोले के भजनों की धुन पर थिकरते कांवड़ियों ने रास्ते में मिले लोगों को भी शिवभक्ति में सराबोर कर दिया। कांवड़ियों की टोलियों को हाईवे पर कुछेक श्रद्धालुओं ने जलपान भी कराया।


कछला भागीरथ घाट से कांवड़ियां जल लेकर निकल रहे हैं। कांवड़ियों की सुरक्षा में भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद हैं एवं इनकी निगरानी में लगाए गए मजिस्ट्रेट और पुलिस अफसर भी लगातार भ्रमण कर रहे हैं। मंदिरों के बाहर भी पुलिस का कड़ा पहरा है। जिन मंदिरों में भक्तों की अधिक भीड़ है वहां पर लाइन लगाकर भक्तों को मंदिर के अंदर तक भेजा जा रहा है। जनपद की सीमा से सटे पटना देवकली मंदिर में भी सुबह से कावड़ियों एवं शिव भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी हुई है। लोगों का कहना है कि श्रावण मास में सोमवार के लिए भगवान शिव का जलाभिषेक करने से मनवांछित फल प्राप्त होता है।