• nationbuzz3

विधानसभा चुनाव के लिये बदायूं-बिसौली से आप सहित 25 प्रत्याशियों के पर्चा खारिज


यूपी बदायूं। विधानसभा चुनाव के लिये नामांकन कराकर चुनाव मैदान में आये कई प्रत्याशियों को जांच के बाद झटका लग गया है। जांच में बदायूं और बिसौली सुरक्षित विधानसभा से आम आदमी पार्टी के प्रत्याशियों सहित 25 के पर्चा खारिज हुये। इसके बाद सबसे प्रत्याशी बिसौली विधानसभा में बचे हैं। अब 31 जनवरी को नाम वापसी और चुनाव चिह्न मिलने के बाद कितने प्रत्याशी चुनाव मैदान में रहेंगे यह साफ हो सकेगा।


शनिवार को विधानसभा चुनाव को लेकर जांच प्रक्रिया जारी रही। सुबह से ही कलक्ट्रेट में कड़ी सुरक्षा रही। पुलिस की त्रिस्तरीय सुरक्षा के बीच नामांकन पत्रों की जांच चली और प्रत्याशी मौजूद रहे। वीडियोग्राफी के बीच नामांकन पत्रों की जांच हुई और प्रेक्षक भी निरीक्षण करते दिखे। इस बीच सुबह 11 बजे से तीन बजे तक चली जांच में पता चला कि 103 नामांकन पत्र सभी छह विधानसभाओं के लिये किये गये थे। इसमें से जांच के दौरान खामियां मिलने की वजह से 25 नामांकन पत्र खारिज कर दिये गये।


जांच के बाद 78 प्रत्याशी चुनाव मैदान में रह गये हैं। जिसमें 112 बिसौली में 19 प्रत्याशी बचे हैं, 113 सहसवान में 13 प्रत्याशी चुनाव मैदान में बचे हैं। वहीं 114 बिल्सी में 11 प्रत्याशी तथा 115 बदायूं सदर विधानसभा में सात प्रत्याशी बचे हैं। वहीं 116 शेखूपुर में 12 तथा 117 विधानसभा दातागंज में 16 प्रत्याशी बचे हैं। बतादें कि जो 25 पर्चा खारिज हुये हैं इनमें दो प्रत्याशी आम आदमी पार्टी के हैं। सदर और बिसौली विधानसभा से आम आदमी के प्रत्याशी का पर्चा खारिज हो गया है।


बिसौली में सबसे अधिक प्रत्याशी 19 बचे


बिसौली विधानसभा की जांच के बाद सूची जारी कर दी गई है जिसमें पता चला कि 112 बिसौली में 22 नामांकन किये गये थे। जिनमें जांच के बाद 03 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र में खामियां मिलने के कारण खारिज कर दिए गए हैं। खाारिज वालों में आम आदमी पार्टी के अनिल प्रकाश, जनसेवा सहायक पार्टी से शेर सिंह एवं आदर्श जनहित पार्टी के रामचंद्र होल्कर शामिल हैं। अब इस विधानसभा में 19 उम्मीदवार शेष रह गए हैं। अगर किसी प्रत्याशी ने नाम वापस नहीं लिया तो फिर चुनाव के लिये हर बूथ पर दो-दो ईवीएम मशीन लगानी पड़ेंगी। एक ईवीएम मशीन में 16 प्रत्याशियों से ज्यादा नहीं आते हैं।


चार पर्चा खारिज, सहसवान में 13 प्रत्याशी बचे 113 सहसवान विधानसभा में कुल 17 नामांकन हुए थे, जिनमें जांचोपरांत 04 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र में खामियां मिलने के कारण खारिज कर दिए गए हैं। जिसमें भारतीय शक्ति चेतना पार्टी के रामवीर सिंह, निर्दलीय उम्मीदवार पितंबर सिंह, भारतीय भाईचारा पार्टी के बदन सिंह एवं लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के दिनेश कुमार का पर्चा खारिज हुआ है। अब इस विधानसभा में 13 उम्मीदवार शेष रह गए हैं।


बिल्सी में शिल्पी मौर्य सहित 11 नामांकन खारिज


114 बिल्सी विधानसभा को कुल 22 नामांकन हुये थे, जिनमें जांच के बाद 11 पर्चा खारिज कर दिये हैं। जिसमें जनशक्ति पार्टी के अवधेश कुमार, जय महाभारत पार्टी के अशोक कुमार पप्पू, महान दल से चंद्र कृष्ण मौर्य, जनसेवा सहायक पार्टी से सुरेश, निर्दलीय अलंकार सिंह, मोहम्मद ज़ाकिर, दुर्गेश कुमार, मोहम्मद नबी, राजू, विशेष कुमार एवं शिल्पी मौर्य के नामांकन खारिज किए गए हैं। अब यहां 11 उम्मीदवार शेष रह गए हैं।


आम आदमी पार्टी सहित चार पर्चा खारिज


115 बदायूं सदर विधानसभा के लिये कुल 11 नामांकन हुए थे, जिनमें जांच के बाद चार खारिज कर दिये गये हैं। इनमें आजाद समाज पार्टी के तमीम उद्दीन, आम आदमी पार्टी के रीतेश कुमार, जनसेवा सहायक पार्टी के संतोष कुमार एवं निर्दलीय उम्मीदवार रामफल शाक्य का पर्चा खारिज किया है। अब यहां सात प्रत्याशी बचे हैं।


शेखूपुर में 12 उम्मीदवार बचे


विधानसभा क्षेत्र 116 शेखूपुर में चुनाव को लेकर कुल 13 नामांकन हुए थे। जिनमें जांचोपरांत जय भारत पार्टी के सर्वेश का नामांकन पत्र में खामियां मिलने के कारण खारिज कर दिया हैं। अब 12 उम्मीदवार शेष हैं, जो चुनाव लड़ेंगे।


दातागंज में चेतना सिंह सहित दो नामांकन पत्र खारिज


विधानसभा क्षेत्र 117 दातागंज में कुल 18 नामांकन हुए थे। जिनमें जांचोपरांत 02 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र में खामियां मिलने के कारण खारिज कर दिए गए हैं। जिसमें लोक बंधु पार्टी के अय्यूब खां एवं निर्दलीय उम्मीदवार चेतना सिंह का पर्चा खारिज हो गया है। अब 16 उम्मीदवार शेष रह गए हैं। बतादें कि चेतना सिंह सपा प्रत्याशी कैप्टन अर्जुन की मां हैं।