• nationbuzz3

मुस्लिम पंचायत सदस्यों के वोट से जीती BJP:5 जिलों बनवाए बीजेपी के जिला पंचायत अध्यक्ष


यूपी। जिला पंचायत अध्यक्ष चुनावों में बीजेपी ने 67 सीटों के साथ बड़ी जीत हासिल की है, जबकि सपा को 5 सीटें ही मिली हैं। हालांकि, अब कई जिलों से यह पता चला है कि बीजेपी को जिला पंचायत अध्यक्ष चुनने में मुस्लिम पंचायत सदस्यों ने भी मदद की है। ऐसा एक नहीं कई जिलों में हुआ है। जहां विकास के नाम पर बीजेपी का समर्थन मुस्लिम सदस्यों ने किया है। इसमें समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, आजाद समाज पार्टी और निर्दलीय मुस्लिम पंचायत सदस्य शामिल हैं।


बिजनौर: 10 मुस्लिम पंचायत सदस्यों ने किया बीजेपी को सपोर्ट

बिजनौर में बीजेपी के साकेंद्र प्रताप सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज हुए हैं। जिले में कुल 56 पंचायत सदस्य हैं। इसके बावजूद केवल 55 वोट ही पड़े। बीजेपी प्रत्याशी साकेंद्र प्रताप सिंह 30 वोट पाकर विजयी हुई। बिजनौर की सियासत से मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी को जिताने के लिए 10 मुस्लिम पंचायत सदस्यों ने मदद की है। इन 10 मुस्लिम पंचायत सदस्यों ने बीजेपी को वोट देकर जिताया है। बताया जा रहा है कि इन 10 सदस्यों में बसपा, आजाद समाज पार्टी, कांग्रेस के साथ-साथ कुछ निर्दलीय पंचायत सदस्य भी शामिल हैं। बहरहाल, बिजनौर के नूरपुर क्षेत्र से पंचायत सदस्य हिना परवीन के पति सनव्वर का कहना है कि हमारे बीजेपी प्रत्याशी साकेन्द्र से पहले से संबंध हैं। इसलिए हम उनके साथ आए हैं। साथ ही क्षेत्र के विकास के लिए हमने उन्हें वोट किया है। क्योंकि हम लोगों से विकास का वादा करके चुनाव जीते थे। ऐसे में हम हारते हुए को वोट करते तो क्षेत्र में विकास नही कर पाते।


फतेहपुर: निर्दलीय मुस्लिम पंचायत सदस्यों ने बीजेपी को किया वोट

फतेहपुर में भी कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है। 46 सीट पर 3 मुस्लिम सदस्य चुन कर आए थे। जिसमें एक भाजपा का मुस्लिम पंचायत सदस्य था। जबकि 2 निर्दलीय मुस्लिम पंचायत सदस्य थे। इन्होंने बीजेपी को ही वोट किया है। यहां बीजेपी के अभय प्रताप सिंह जीते हैं। यही नहीं, सपा के 9 सदस्य होने के बावजूद पार्टी कैंडिडेट को 5 वोट ही मिले हैं। ऐसे में यह साफ़ है कि यहां मुस्लिम पंचायत सदस्य का सपोर्ट मिला है।


सम्भल: बसपा के मुस्लिम सदस्यों का साथ मिला बीजेपी को

सम्भल में में भी बीजेपी को मुस्लिम सदस्यों का साथ मिला है। यहां से भाजपा की अनामिका यादव जीती हैं। यहां 9 मुस्लिम पंचायत सदस्य हैं जिनमे से 4 बसपा के, 5 निर्दलीय हैं। इन सभी ने बीजेपी की अनामिका को वोट किया है। अनामिका को 35 में कुल 22 वोट मिले हैं।


उन्नाव: सपा के मुस्लिम पंचायत सदस्यों ने बीजेपी को दिया वोट

उन्नाव में दो मुस्लिम पंचायत सदस्य दीवा सफ़वी, नमीमुन निशां और दो पुरुष फरान सफ़वी, मोहम्मद शकील हैं। यह चारों समाजवादी पार्टी से सम्बन्ध रखते हैं। उन्नाव में बीजेपी दो फाड़ थी। सूत्रों के मुताबिक, इनमे से दो ने बीजेपी को और दो ने बीजेपी के बागी अरुण सिंह को वोट दिया है।


बस्ती: चुनाव में दलीय और जातीय वर्जनाएं टूटी

43 सदस्यों वाले जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट पर बीजेपी प्रत्याशी संजय चौधरी के पक्ष में 39 सदस्यों ने मतदान किया। जबकि सपा प्रत्याशी वीरेन्द्र चौधरी को मात्र चार मत मिले। वह भी तब जब सपा द्वारा घोषित उम्मीदवारों में से पांच ने जीत दर्ज की थी। भीम आर्मी के खुर्शीद सहित पांच मुस्लिम उम्मीदवारों ने भी जीत दर्ज की थी। कांग्रेस के एक, बीजेपी के दो, बसपा के छह प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की थी। बावजूद इसके बीजेपी की आंधी में सभी समीकरण ढह गए। परिणाम आने के बाद यह सवाल किया जा रहा है कि आखिर वे जीते हुए सदस्य कहां गए। कयास लगाया जा रहा है कि मुस्लिम सदस्यों ने भी बीजेपी का साथ दिया है।