• nationbuzz3

कोरोना काल में कालाबाजारी पर सैनिटाइजर की बिक्री में घपला, मेडिकल का लाइसेंस सस्पेंड


यूपी बरेली। कोरोना काल में जीवन रक्षक दवा और उपकरणों की कालाबाजारी के मामले में मेहता सर्जिकल के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो चुकी है। ड्रग विभाग ने सैनिटाइजर की खरीद बिक्री में गड़बड़ी के मामले में शास्त्री मार्केट के परम मेडिकल का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया।


एक सप्ताह पहले ड्रग विभाग की टीम ने शास्त्री मार्केट में परम मेडिकल पर छापा मारा था। मेडिकल स्टोर की दवा और सैनिटाइजर के रिकार्ड का मिलान किया था। परम मेडिकल स्टोर का संचालक सैनिटाइजर की खरीद-बिक्री का रिकार्ड ड्रग टीम को नहीं दिखा सका था। एक सप्ताह के अंदर ड्रग विभाग को नोटिस का जवाब नहीं दे सका। सैनिटाइजर कहां से मंगाया गया और कहां बेचा जा रहा था इसकी कोई भी जानकारी ड्रग विभाग को मुहैया नहीं कराई गई।


ड्रग इंस्पेक्टर की विवेचना रिपोर्ट के आधार पर सहायक आयुक्त ड्रग ने परम मेडिकल स्टोर का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया। ड्रग विभाग को नोटिस के जवाब का इंतजार है। परम मेडिकल स्टोर का संचालक जो दस्तावेज प्रस्तुत करेगा उसकी ड्रग विभाग पड़ताल करेगा। दस्तावेज सही पाए जाने पर लाइसेंस बहाल किया जा सकेगा। तीन महीने बाद लाइसेंस को कैंसिल किया जा सकता है। बता दें कि ड्रग टीम ने सैनिटाइजर का सैंपल लेकर लैब भेजा गया है। लैब की रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई तय की जाएगी।


परम मेडिकल स्टोर के संचालक ने सैनिटाइजर की खरीद-बिक्री के दस्तावेज नहीं दिखाए थे। ड्रग इंस्पेक्टर की विवेचना के आधार पर परम मेडिकल का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया है।

संजय कुमार, सहायक आयुक्त ड्रग