• nationbuzz3

शाखा प्रबंधक का शव फंदे पर लटका मिला था , पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या की पुष्टि


यूपी बदायूं। बैंक ऑफ बड़ौदा के शाखा प्रबंधक ने आत्महत्या नहीं की, बल्कि उनकी गला दबाकर हत्या की गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस तथ्य का खुलासा हुआ है। वहीं दो बार पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया है। फिलहाल पुलिस का कहना है कि अब घटनास्थल की वीडियोग्राफी समेत पोस्टमार्टम रिपोर्ट फोरेंसिक लैब को भेजी जाएगी। वहां की रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।


शहर के मोहल्ला जालंधरी सराय स्थित चांद मियां के घर में सोमवार सुबह बीओबी जोगीपुरा के शाखा प्रबंधक यूसुफ अली का शव फंदे पर लटका मिला था। यूसुफ यहां बतौर किराएदार रहते थे। वह पश्चिम बंगाल के जिला वर्धमान के सदर पाड़ा इलाके के मोगल कोटे के रहने वाले थे। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम को भेजा और परिजनों को इसकी सूचना दे दी।


पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने उलझाई कहानी

मंगलवार को परिजनों के पहुंचने पर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया तो रिपोर्ट हैरतंगेज आई। रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या की पुष्टि हुई। इधर, पुलिस के पास पोस्टमार्टम पहुंची लेकिन इससे पहले तो ही परिजन शव लेकर रवाना हो गए। बाद में एसएसपी डॉ. ओपी सिंह ने चिकित्सकों के पैनल से पोस्टमार्टम कराने का निर्देश पुलिस को दिया तो बरेली से शव वापस लाया गया और पुन: पोस्टमार्टम कराया गया। रात को आई रिपोर्ट में भी गला दबाकर हत्या की पुष्टि हुई है। नाक पर भी चोट का निशान मिले हैं।


कातिल की तलाश शुरू

पुलिस ने अब कातिल की तलाश शुरू कर दी है। इसके लिए शाखा प्रबंधक की कॉल डिटेल समेत आसपास इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है। मकान मालिक से भी पूछताछ की जा रही है। जबकि फोरेंसिक टीम ने भी घटनास्थल का दोबारा से मुआयना करके साक्ष्य जुटाए हैं। एक महिला को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।


एसपी सिटी प्रवीन सिंह चौहान ने बताया कि जिन हालात में शव मिला, उन्हें देखकर लग रहा था कि मामला आत्महत्या से जुड़ा है। हालांकि अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट और घटनास्थल की वीडियोग्राफी को फोरेंसिक लैब को भिजवाया जाएगा। वहां की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी।