• nationbuzz3

शहर में रेस्टोरेंट की आड़ में देह व्यापार करने वाले संचालक समेत उसके भाई पर मुकदमा दर्ज


यूपी बदायूं। शहर में रेस्टोरेंट की आड़ में देह व्यापार करने वाले संचालक समेत उसके भाई के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। इधर, पकड़े गए रेस्टेरेंट संचालक के भाई को थाने से जमानत दे दी गई है।


जबकि संचालक फरार बताया जा रहा है। वहां पुलिस टीम को जिस्मफरोशी कराने वाली एक महिला भी मिली, जो उझानी कोतवाली इलाके की रहने वाली है। जबकि कई आपत्तिजनक चीजें भी पुलिस ने बरामद की हैं। कुल मिलाकर शहर में चल रहे सैक्स रैकेट का खुलासा उस वक्त हुआ, जब एसएसपी संकल्प शर्मा के संज्ञान में पूरा मामला पहुंचा। अन्यथा की स्थिति में प्रकरण को पूरी तरह दबाया जा चुका था।


सदर कोतवाली इलाके में लोचीनगला चौराहे से बरेली रोड पर चंद कदम चलकर स्थित एक रेस्टोरेंट है। इसकी आड़ में काफी समय से यहां जिस्म फरोशी का धंधा चल रहा था। हिंदूवादी संगठन ने इसका विरोध किया तो शुक्रवार को पुलिस ने वहां रेड करके रेस्टोरेंट संचालक के भाई को हिरासत में ले लिया।


मुकदमे के मुताबिक रेस्टोरेंट संचालक राकेश गुप्ता का भाई सर्वेश गुप्ता निवासी विजयनगर कालोनी पकड़ा गया था और उसकी जेब से आपत्तिजनक सामान मिला। वहीं उसने ही बताया कि रेस्टोरेंट उसके भाई का है। पुलिस भीतर गई तो वहां एक महिला भी वहां मौजूद मिली। उसने खुद कबूला कि रेस्टोरेंट संचालक जिस्मफरोशी कराने के लिए उसे फोन पर बुलाता था और युवकों से मिलवाता था। इसके बदले उसे रकम भी देता था। महिला के पास से भी आपत्तिजनक सामान मिला।


सीओ सिटी को जाना पड़ा


शुरुआत में इस प्रकरण को थानास्तर पर पुलिस ने दबा लिया और दंपति के पकड़े जाने समेत उन्हें छोड़ने की बात कही गई। जबकि अधिकारियों तक मामला पहुंचा तो पुलिस ने स्पष्ट कह दिया कि कोई वादी नहीं है, इसलिए मुकदमा कैसे करें। सीओ सिटी चंद्रपाल सिंह को वहां भेजा गया तो सीओ सिटी खुद इस मुकदमे के वादी बने हैं। जबकि रेस्टोरेंट संचालक समेत उसके भाई को नामजद किया गया है। कुल मिलाकर अधिकारियों की नजर में जिस्मफरोशी का यह अड्डा अब आ चुका है।


मुकदमा दर्ज किया जा चुका है। आपराधिक रिकार्ड भी खंगाला जा रहा है। अगर दोबारा इन भाइयों ने देह व्यापार को बढ़ावा दिया तो इनके खिलाफ प्रभावी कार्रवाई होगी।


डीएस धामा, सदर कोतवाल