• nationbuzz3

सूबे की सत्ता संभालने के बाद दूसरी बार बदायूं जिले में आ रहे मुख्यमंत्री दे सकते हैं बड़ी सौगात


यूपी बदायूं। सूबे की सत्ता संभालने के बाद दूसरी बार बदायूं जिले में आ रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कोई बड़ी सौगात मिलने की उम्मीद की जा रही है। पहली बार वह 2018 में जब आए थे तो सिर्फ विकास कार्यों की समीक्षा करके चले गए थे। चुनाव की आहट के बीच नौ नवंबर को आ रहे सीएम कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। जिला प्रशासन निर्माण कार्यों के शिलान्यास और लोकार्पण के अलावा लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र वितरित कराने की भी तैयारी कर रहा है। मुख्य विकास अधिकारी ऋषिराज ने विकास भवन में अधिकारियों के साथ बैठक कर दिशा निर्देश दिए। सहसवान में हेलीपैड का निर्माण और टेंट लगाने का काम शुरू हो गया है।


विधानसभा चुनाव की गतिविधियां शुरू हो चुकी हैं। बसपा ने जिले में दातागंज में टिकट तक की घोषणा कर दी है। भाजपा ने भी पन्ना प्रमुख तक का अभियान शुरू करके चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। नौ नवंबर को आ रहे मुख्यमंत्री एक तरह से चुनाव का बिगुल फूंक देंगे। मुख्यमंत्री का कार्यक्रम भले ही सहसवान में लगा है, लेकिन इसे जिला स्तरीय आयोजन किया जा रहा है। क्या-क्या कार्यक्रम होंगे अभी इसकी विस्तृत जानकारी तो नहीं दी गई है, लेकिन जिला प्रशासन के स्तर से कराई जा रही तैयारियों के अनुसार लाभार्थीपरक योजनाओं में लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र, अनुदान राशि के चेक का वितरण कराया जा सकता है।


मुख्य विकास अधिकारी ने समाज कल्याण, प्रोवेशन, अल्पसंख्यक कल्याण, विद्युत विभाग, खंड विकास अधिकारियों की बैठक लेकर तैयारी पूरी रखने के निर्देश दिए। हर ब्लाक से लाभार्थियों को आयोजन स्थल पर बुलाने की तैयारी की जा रही है। सोमवार तक मुख्यमंत्री का विस्तृत कार्यक्रम जारी होने की संभावना जताई जा रही है। जिलाधिकारी दीपा रंजन ने अधिकारियों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंप दिया है, आयोजन स्थल पर चल रही तैयारी से लेकर कार्यक्रम आयोजन की तैयारी की खुद निगरानी कर रही हैं।


हर ब्लाक से प्रधान भी कार्यक्रम में पहुंचेंगेः विभिन्न विभागों की परियोजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण कार्यक्रम के अलावा जनसभा का भी आयोजन किया गया है, इसलिए भीड़ जुटाने की भी तैयारी की जा रही है। भाजपा के पदाधिकारी तो कार्यकर्ताओं को ले जाने में जुट गए हैं, लेकिन ब्लाक स्तरीय अधिकारियों को प्रधानों को भी कार्यक्रम में शामिल कराने की जिम्मेदारी दी गई है। हर ब्लाक से लाभार्थियों को ले जाने और उनके बैठने के लिए अलग से व्यवस्था कराई जा रही है।