• Nationbuzz News Editor

सीएम योगी ने वरिष्ठ अफसरों को सौंपा आगरा, मेरठ और कानपुर में संक्रमण रोकने का जिम्मा


यूपी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ, कानपुर व आगरा में बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने और हालात की निगरानी का जिम्मा वरिष्ठ प्रशासनिक, पुलिस और मेडिकल अफसरों को सौंपा है। उनके निर्देश पर इन अधिकारियों को रविवार को ही जिलों में भेज दिया गया। ये अधिकारी जिलों में कैंप करके विशेष समीक्षा करेंगे और सुबह-शाम शासन को रिपोर्ट भेजेंगे। मुख्यमंत्री रविवार को अपने आवास पर उच्चस्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने आगरा, मेरठ व कानपुर पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर कानपुर में यूपीसीडा के एमडी अनिल गर्ग व आईजी दीपक रतन, आगरा में प्रमुख सचिव अवस्थापना व औद्योगिक विकास आलोक कुमार और आईजी विजय कुमार की तैनाती की गई है। मेरठ की कमान प्रमुख सचिव सिंचाई टी. वेंकटेश और आईजी लक्ष्मी सिंह को सौंपी गई है। इनके साथ स्वास्थ्य विभाग के भी दो-दो वरिष्ठ अधिकारियों की तैनाती की गई है। उन्होंने लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। पड़ोसी राज्यों की सीमाओं से कोई भी व्यक्ति पैदल न चले, हर हाल में पलायन को रोका जाए। श्रमिकों की सुरक्षित वापसी के लिए प्रतिबद्ध सीएम ने कहा कि विभिन्न राज्यों से यूपी में लौटने वाले प्रवासियों की एक सूची उपलब्ध करायी जाए, ताकि उन्हें सुरक्षित लाया जा सके। प्रदेश सरकार प्रवासियों की सकुशल एवं सुरक्षित वापसी के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सभी प्रवासी श्रमिकों, कामगारों का स्वास्थ्य परीक्षण अनिवार्य किया जाए। अस्वस्थ होने की दशा में उपचार किया जाए। उन्हें घर भेजते समय खाद्यान की किट एवं भरण-पोषण भत्ता भी उपलब्ध कराया जाए। कोरोना की जांच व पूल टेस्टिंग बढ़ाई जाए मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण की जांच के लिए टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के साथ ही पूल टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सभी मेडिकल कॉलेजों के प्रधानाचार्यों से संवाद बनाए रखा जाए। सभी जिलों में वेंटीलेटर्स को तैयार किया जाए। एनेस्थीशिया डॉक्टरों की सूची भी बना ली जाए। उन्हें ट्रेनिंग देकर वेंटीलेटर्स संचालित कराए जाएं। उन्होंने इमरजेंसी मेडिकल सेवाओं का संचालन स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकॉल के अनुसार करने के निर्देश दिए। 115 ट्रेनों से प्रवासी श्रमिकों की वापसी प्रमुख सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि विभिन्न राज्यों से 215 ट्रेनों से 2.30 लाख से अधिक प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों की प्रदेश वापसी हो चुकी है। रविवार को 57 ट्रेन से लगभग 70 हजार यात्री आए हैं। ट्रेनों से आने वाले लोगों का स्टेशन पर ही मेडिकल जांच कराई जा रही है। इसके बाद उन्हें होम क्वारंटीन के लिए भेजा जा रहा है।

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube