• nationbuzz3

कांवड़यात्रा सकुशल ढंग से निकलवाने के लिए प्रशासन और पुलिस की तैयारी, आदेश का इंतजार


यूपी बदायूं। जिले में कांवड़यात्रा सकुशल ढंग से निकलवाने के लिए प्रशासन और पुलिस ने पूरी तैयारी कर ली है। इन तैयारियों को अंतिम रूप आदेश के बाद ही दिया जासेगा। कोरोना काल में कांवड़यात्रा की अनुमति का मामला सुप्रीमकोर्ट तक पहुंच गया है। फिलहाल जिम्मेदार भी इस मामले में कुछ भी बताने से कतरा रहे हैं।


कांवड़यात्रा को लेकर मंडल मुख्यालय के अफसरों का फोकस बदायूं पर ही रहता है। वजह है कि यहां के कछला गंगाघाट से जल लेकर लाखों शिवभक्त कांवड़िये समूचे रूहेलखंड में जाते हैं। ऐसे में यहां अतिरिक्त पीएसी व पुलिस बल भी आसपास के जिलों से मिलता है। लॉकडाउन के बाद से सभी त्योहारों पर सामाजिक दूरी की गाइडलाइन के चलते ब्रेक लगा तो कांवड़यात्रा भी बंद हो गयी। पिछले दिनों प्रदेश सरकार ने कांवड़यात्रा निकालने की मंजूरी दे दी थी। इसके साथ ही अफसरों ने तैयारियां भी शुरू कर दी थीं।


डायवर्जन चार्ट से लेकर फोर्स की भेजी डिमांड


पुलिस ने कछला से बिनावर समेत पूरे जिले में कांवड़यात्रा के दौरान रूट डायवर्जन के लिए चार्ट भी तैयार कर लिया था। डायवर्जन भीड़ को देखकर किया जाता था। हल्की भीड़ में शुक्रवार से सोमवार और भीड़ ज्यादा होने के कारण यह व्यवस्था पूरे सावनभर बहाल रखी जानी थी। वहीं अतिरिक्त फोर्स की डिमांड भी भेज दी गई थी। इसके अलावा स्थानीय स्तर पर भी यह तय किया जा रहा था कि संवेदनशील इलाकों में कहां-कितना फोर्स तैनात किया जाएगा।


कांवड़ : केंद्र ने कहा- राज्य ना दें अनुमति, UP को मिली पुनर्विचार की मोहलत