• nationbuzz3

सहकारी बैंक चेयरमैन उमेश राठौर औऱ भाजपा की पूर्व नेत्री ने एक दूसरे के खिलाफ FIR दर्ज कराई


यूपी बदायूं। डीसीबी चेयरमैन उमेश राठौर समेत तीन लोगों के खिलाफ आपराधिक अतिचार व लज्जाभंग समेत धमकाने आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है। पुलिस ने यह कार्रवाई पूर्व भाजपा नेत्री की तहरीर पर की है। वादिनी ने एक दिन पहले डीएम कार्यालय पर कार्रवाई की मांग को लेकर धरना भी दिया था। मुकदमे में भाजपा ब्रजक्षेत्र के पूर्व उपाध्यक्ष जेके सक्सेना के बेटे का नाम भी शामिल है। पुलिस ने फिलहाल मामले की जांच शुरू कर दी है।


मुकदमे के मुताबिक डीसीबी चेयरमैन के खिलाफ साल 2015 में वादिनी ने रेप व आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया था। विवेचना के बाद यह प्रकरण इलाहाबाद हाइकोर्ट में सुनवाई के लिए विचाराधीन है। इसी कारण डीसीबी चेयरमैन महिला से रंजिश मानते हैं और साजिश रचते हैं। चेयरमैन के मित्र व ब्रजक्षेत्र के पूर्व उपाध्यक्ष जेके सक्सेना का बेटा उनकी बेटी के मोबाइल पर अश्लील मैसेज भेजकर मानसिक तौर पर परेशान करता है। इसी कारण वादिनी की बेटी बीमार पड़ गई और उसका बरेली व दिल्ली के अस्पताल में इलाज कराना पड़ा। एक अगस्त को क्षत्रिय समाज के आंदोलन में वादिनी बरेली के आंवला में शामिल होने गईं थीं। आरोप है कि वहां डीसीबी चेयरमैन भी मौजूद थे।


कार्यक्रम के बाद चेयरमैन ने वादिनी के मायके वालों को फोन पर धमकी दी कि उसे सामाजिक कार्यक्रमों में न भेजा करें। वरना जान से मरवा दिया जाएगा। आरोप यह भी है कि सैजनी गांव में स्थित वादिनी के ईंट भट्ठे पर कब्जा करने की डीसीबी चेयरमैन ने साजिश की। वहीं डीसीबी चेयरमैन के रिश्तेदार व पूर्व ब्लाक प्रमुख उसावां श्यामपाल सिंह का बेटा भुवनेश भी फोन पर भट्ठा बेचने की बात कहते हुए कब्जा करने की धमकी देता है। समय-समय पर इन घटनाओं की शिकायतें की गईं लेकिन कार्रवाई नहीं हो रही है।


मुकदमे में इस बात का भी जिक्र है कि डीसीबी चेयरमैन वादिनी के फर्जी हस्ताक्षर बना लेते हैं और जरूरत पड़ने पर हस्ताक्षर का दुरुपयोग भी करते हैं। वादिनी ने कार्रवाई न होने पर सीएम आवास पर आत्मदाह की चेतावनी दी थी। जबकि नजरबंद करने पर परिजनों के साथ घर में आत्मदाह की चेतावनी भी दी गई। एसएचओ सिविल लाइंस संजीव शुक्ला ने बताया कि घटना का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच जारी है।


पूर्व भाजपा नेत्री के खिलाफ डीसीबी चेयरमैन उमेश राठौर ने सिविल लाइंस थाने में मुकदमे का भय दिखाकर वसूली करने का मुकदमा दर्ज कराया है। मुकदमे में ईंट भट्ठा समेत कार आदि हड़पने के गंभीर आरोप हैं। पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। क्रास केस दर्ज होने के बाद से सियासी गलियारों में भी हलचल मची हुई है।


दोनों पक्षों की ओर से मिली तहरीरों के आधार पर मुकदमे लिखे जा चुके हैं। मामलों की तफ्तीश में जो भी तथ्य सामने आएंगे, उनके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।


संजीव शुक्ला, एसएचओ सिविल लाइंस