बदायूं जिले में कोरोना का अब कोई केस नहीं, सतर्कता अभी जरूरी लॉकडाउन का पालन करते रहे


बदायूं। जनपद में कोरोना संक्रमितों की संख्या अब शून्य हो चुकी है, लेकिन कोविड-19 का प्रकोप अब भी देशभर में हर पल बढ़ता ही जा रहा है। अब नागरिकों की जिम्मेदारी है कि अभी सतर्कता बरतें, लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करते रहें। जिलाधिकारी कुमार प्रशांत एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने बिल्सी में लॉकडाउन का निरीक्षण किया। उन्होंने उपजिलाधिकारी संजय कुमार सिंह एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी को निर्देश दिए कि समय-समय पर नर्सिंगहोम, क्वारंटाइन सेंटर एवं कम्युनिटी किचन की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते रहें। डीएम एवं एसएसपी ने बिल्सी का निरीक्षण के समय बताया कि सभी के प्रयास से जनपद कोरोना मुक्त हो चुका है, लेकिन इसे आगे भी मुक्त रखना हम सभी की जिम्मेदारी है। देश में पैर पसार रही महामारी से खतरा अभी टला नहीं है, इसलिए इसे कतई हल्के में न लें। जरा सी लापरवाही जीवन के लिए घातक बन सकती है। अपना और अपने परिवार के लिए बताए गए इन नियमों का पूर्णतया पालन करें। फिजिकल डिस्टेंसिग का पालन खुद भी करें और दूसरों को भी कराएं, तभी इस महामारी से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी को रोकने के लिए लॉकडाउन और फिजिकल डिस्टेंसिग बहुत ही प्रभावी उपाय है। खांसते, छींकते समय मुंह को रूमाल व टिश्यू से ढकें। हाथों को समय-समय पर साबुन से धोते रहे या सैनिटाइजर से साफ करें। मुंह ढकने के लिए मास्क, गमछा, तौलिया, दुपट्टा या बड़ी रूमाल का प्रयोग करें, बुर्जुगों एवं बच्चों का विशेष ध्यान रखे। सभी लोग घर में रहें, सुरक्षित रहें, स्वस्थ्य रहें। समझाया कि सभी की सतर्कता बनी रही तो जिला ग्रीन जोन में पहुंच जाएगा और सहूलियत बढ़ जाएगी।