• Nationbuzz News Editor

कोरोना की जंग जीता बदायूं, सभी संक्रमित मुक्त, लोगों ने पुलिस व प्रशासन का फूलों से स्वागत किया


बदायूं। कोरोना महामारी की बदायूं की आवाम अब तक की जंग जीत चुकी है। अब तक कोरोना की जंग जीतने में लोगों ने जिस तरह से सहयोग किया, वह आगे भी जारी रखना होगा। एक महीने के अंदर 16 लोग कोरोना संक्रमित हुए और फिर ठीक हो गए। जिले के लिए यह खुशखबरी है। मुंबई, आंध्र प्रदेश और बुलंदशहर के जमातियों व एक नेपाल और जिले के लोग संक्रमित हुए थे। वह अब एक महीने के अंदर संक्रमण से मुक्त हो गए है। जिले में कोरोना का पहला मरीज पांच अप्रैल को निकला था और 10 मई को बरेली अस्पताल से अंतिम तीनों मरीज कोरोना मुक्त हो गए हैं। रविवार को बरेली जिला अस्पताल में बैंक फील्ड मैनेजर और सहसवान के भवानीपुर खल्ली के दो सहित तीनों को कोरोना मुक्त होने के बाद छुट्टी दे दी गई। देर शाम को जिला मुख्यालय पहुंचे बैंक मैनेजर को अपने आवास, दो को भवानीपुर खल्ली अपने घर भेज दिया है। जमातियों से शुरुआत, मैनेजर पर कोरोना खत्म अब तक के सभी कोरोना मरीज मुक्त हो गए हैं। पांच अप्रैल को कोरोना मरीज पहला मुंबई का जमाती निकला था, जो सहसवान तहसीलगेट मस्जिद से इसके बाद दो अन्य जमाती निकले। इसके बाद भवानीपुर खल्ली, नेपाली, साहू परिवार के दो सदस्य, जालंधरी सराय, कबूलपुरा और फिर बैंक फील्ड मैनेजर भी निकला था। सभी कोरोना मुक्त हो गए हैं। मोहल्ला नाहर खाँ सराय में बदायूँ के कोरोना मुक्त होने पर मोहम्मद शादाब और मोहल्ले के सभी लोगों ने पुलिस प्रशासन का फूलों की वर्षा से स्वागत किया और हेंड सैनेटाईज़र उपहार स्वरूप दिये गये.. स्वागत में लोगों ने तिरंगा लहराकार पुलिस का उत्साह वर्धन किया.. स्वागत में विशेष रुप से शाहआलम, ज़ुबैर, हारून, अजहर और पप्पू शामिल रहे। बदायूं आवास पर क्वारंटीन रहेंगे मैनेजर शहर की बैंक ऑफ बड़ौदा टिकट गंज के फील्ड मैनेजर भी कोरोना संक्रमित हुए थे। कोरोना संक्रमित होने के बाद बदायूं आवास चूनामंडी भी सीलकर दिया गया था। अब वह ठीक हो गए हैं और वापस आ गए हैं। । बदायूं अब तक की कोरोना जंग जीत चुका है। जिले के तीन मरीज रह गए थे, वे निगेटव आ गए। बरेली से तीनों को डिस्चार्ज कर भेज दिया है। वापस आए सभी मरीज घर पर रहेंगे वह अब घर पर क्वारंटीन रहें घर से बाहर न निकलें। डॉ. यशपाल सिंह, सीएमओ

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube