• nationbuzz3

मौतों का सिलसिला भी बदस्तूर जारी, लेकिन खुद की जान की परवाह न परिवार की चिंता


यूपी बदायूं। कोरोना चरम पर पहुंच चुका है, जिले में अब संक्रमितों का आंकड़ा हजार के पार भी पहुंच रहा है। वहीं कम से कम तीन सौ लोग तो रोजाना संक्रमित निकल रहे हैं। मौतों का सिलसिला भी बदस्तूर जारी है। राजकीय मेडिकल कालेज में तकरीबन हर रात ही दो से तीन लोगों की जान जा रही है। वजह चाहें कुछ भी हो लेकिन वहां रात के वक्त ही मौत होने का रहस्य गहराता जा रहा है। इन पूरे हालात से जहां प्रशासन समेत स्वास्थ्य महकमे के अफसर भौंचक्के रह गए हैं। वहीं पब्लिक है कि सुनने-समझने को राजी नहीं है। बाजार पूरी तरह बंद है लेकिन जो भी दुकानें खुलती हैं, उनमें लोग एकत्र हो जाते हैं।


पुलिस जाते ही उठते हैं शटर


बिसौली। बिसौली में कोरोना कर्फ्यू का खुलेआम उल्लंघन होते हुए किसी भी वक्त देखा जा सकता। दुकानें बेरोकटोक खुल रही हैं और लोग भी वहां जुट रहे हैं। पुलिस पहुंचती है तो कुछ देर को शटर डाउन हो जाते हैं लेकिन पुलिस के जाते ही हालात जस के तस हो जा रहे हैं।


संक्रमित बढ़ रहे पर परवाह नहीं


बिल्सी। बाजार में लोग आम दिनों की तरह ही टहलते हुए दिख जाते हैं। दुकानें भी व्यापारी बेखौफ होकर खोल लेते हैं और भीड़ जुटाकर बिक्री से कोई गुरेज नहीं रखते। नतीजतन यहां संक्रमण फैलने की पूरी आशंका बनी हुई है। रोज संक्रमित लोग भी निकल रहे हैं।


टिकटगंज में सिस्टम फेल


शहर के टिकटगंज इलाके में न तो कोई जागरुकता का परिचय दे रहा है और न ही सजगता दिखाई जा रही है। यहां पूरे दिन लोग पैदल समेत वाहनों से घूमते दिखते हैं। एकाध बार पुलिस रोकने की कोशिश करती है तो बीमारी या दवा लेने जाने का ठोस कारण बताते हुए वहां से चले जाते हैं।


दवा की दुकानों पर नियम का पालन नहीं


शहर के लावेला चौक पर स्थित मेडिकल स्टोरों पर रोजाना भीड़ जुटती है। सीओ सिटी ने भी मेडिकल स्टोर संचालकों को गोले बनवाने की हिदायत दी थी लेकिन संचालक केवल इंकम में जुटे हैं और वायरस की कोई परवाह नहीं है। हालांकि डीएम रोड पर पूरे दिन स्नाटा पसरा रहता है।


यहां पसर रहा सन्नाटा


शहर के छह सड़का रोड पर कुछेक व्यापारियों ने दुकानें खोल लीं लेकिन ग्राहक वहां नहीं फटके। क्योंकि वहां पुलिसका कड़ा पहरा रहा। यही हाल कचहरी इलाके का भी दिखा। यहां भी इक्का-दुक्का लोग ही निकले थे।


पुलिस लाइन से गुजरते रहे वाहन


शहर के पुलिस लाइन चौराहे पर केवल भारी वाहन गुजरते दिखे। वहीं छह सड़का इलाके में सीओ सिटी समेत सदर कोतवाल व चौकी पुलिस ने वहां से गुजरने वाले हर व्यक्ति से पूछताछ की, ऐसे में लोग इस रूट पर आने से कतरा रहे थे। केवल इसी चौराहे पर कर्फ्यू की सख्ती दिखी।


सहसवान में कर्फ्यू बेअसर


सहसवान। पुलिस और प्रशासन लोगों को कोरोनावायरस से बचाने के लिए तमाम प्रयास कर रहे हैं लेकिन गली मोहल्लों में वीकेंड लॉक डाउन का पालन होता हुआ नजर नहीं आ रहा है। जबकि मुख्य बाजार में पूरी तरह से लॉकडाउन का असर दिखाई पड़ रहा है इसमें भी कुछ दुकानदार अपनी दुकानों के आगे स्टूल डालकर बैठे रहते हैं और ग्राहक आने पर दुकान का शटर उठाकर उन्हें सामान दे देते हैं। इस तरह संक्रमण पर काबू पाना मुश्किल लग रहा है।


सड़क पर आयी पुलिस तो बाजार में पसरा सन्नाटा


उघैती। कस्बे में व्यापारियों एवं क्षेत्रीय लोग कोरोना कर्फ्यू का पालन नहीं कर रहे हैं। इलाकाई लोग बेखौफ रहे हैं। एसओ की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आते ही उन्होंने पुलिस बल के साथ बेवजह सड़कों पर घूम रहे युवाओं की टोली पर लाठियां फटकार भगाया। स्टेट हाईवे पर गुजरने वाले प्रत्येक राहगीर को रोककर जाने का कारण पूछा। दर्जनभर से अधिक वाहनों को सीज किये। उन्होंने तीन पुलिसकर्मियों की टीम को कस्बे के मुख्य बाजार एवं तीन पुलिस कर्मियों की टीम को नगर में तैनात कर दिया।


ग्रामीणों को बांटे मास्क


थानाध्यक्ष ने ग्रामीण क्षेत्र से बिना मास्क के आने वाले तमाम कमजोर वर्ग के लोगों को खुद मास्क दिये। समझाया कि बिना मास्क के घर से नहीं निकलें।