• Nationbuzz News Editor

मेडिकल कालेज में कोरोना डॉक्टर की संक्रमित पत्नी की मौत, जिले में मरने वालों की संख्या 7 पहुंची


यूपी बदायूं। जिले में भी कोरोना अब भयंकर रूप लेता जा रहा है बीयूएमएस डॉक्टर की पत्नी पहले कोरोना की शिकार हुई और हालत बिगड़ते-बिगड़ते मौत हो गई। मगर डॉक्टर की पत्नी की हालत में सुधार नहीं हो पाया, जबकि एल-2 मेडिकल कालेज में भर्ती की गई और वेंटीलेयर की सुविधा भी दी गई। इसके बाद डॉक्टर की पत्नी की मौत हो गई। जिले में अब कोरोना से मरने वालों की संख्या सात हो गई है। देरशाम को मेडिकल कालेज टीम ने आकर शव का अंतिम संस्कार करा दिया है।


शनिवार को नगर के वार्ड संख्या चार निवासी बीयूएमएस डॉक्टर की पत्नी की कुछ दिन पहले तबीयत खराब हुई थी। इसके बाद मेडिकल कालेज में भर्ती कराई गई। इसके बाद सैंपल की रिपोर्ट में पॉजीटिव आ गई है। मेडिकल कालेज में ही इलाज चल रहा था, तीन दिन से वेंटीलेटर पर इलाज दिया जा रहा था। शनिवार को डॉक्टर पत्नी की कोरोना से मौत हो गई वह 50 वर्ष की थी। दोपहर बाद मेडिकल कालेज की टीम महिला के शव को एंबुलेंस से लेकर कस्बा की शमशान भूमि पर लेकर पहुंचे।


यहां डॉक्टर, बेटी की मौजूदगी में टीम ने गाइड लाइन के अनुसार अंतिम संस्कार किया।


इस मौके पर म्याऊं पीएचसी के डॉक्टर खदीजा कादीर, सार्थक सारस्वत, काउंसलर आनंद यादव, एसआई मुकेश और कांस्टेबल पुष्पेंद्र राणा मौजूद थे। थाना प्रभारी ओपी गौतम ने कस्बा में कोरोना से मौत होने के बाद लोगों से अपील की है कि संपर्क में जो भी आया हो वह खुद अपने आप को क्वारंटीन हो जाए और सैंपल करा ले।


मेडिकल स्टोर चलाते हैं डॉक्टर


कस्बा वार्ड चार के डॉक्टर की पत्नी कोरोना से मौत हो गई वह डॉक्टर का मेडिकल स्टोर भी है। मेडिकल स्टोर पर तमाम लोग इस परिवार के संपर्क में रहा है।


महिला की मौत से पहले का वीडियो वायरल


अलापुर के बीयूएमएस डॉक्टर की पत्नी की मेडिकल कालेज में कोरोना से मौत हो गई। मौत से पहले का वीडियो वायरल हुआ।0 जिसमें महिला बेड से जमीन पर गिर गई और मुंह से ऑक्सीजन मास्क भी उतर गया। इसके बाद महिला की तड़पकर मौत हो गई। कहने के बाद भी स्टाफ ने उसे जमीन से उठाकर बेड पर नहीं लेटाया। यहां भर्ती मरीजों ने उसे उठाया और बेड पर लेटाया।


महिला को मृत्यु के दौरान बेचैनी हुई थी, तभी महिला ने ऑक्सीजन मास्क हटा दिया था। इसके बाद उसे बेड उतरकर जमीन पर आ गई थी। महिला के उपचार में कोई लापरवाही नहीं की गई है।


आरपी सिंह, प्राचार्य राजकीय मेडिकल कॉलेज

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube