• nationbuzz3

डिप्टी सीएम ने 69.67 करोड़ रुपए की 24 परियोजनाओं का किया लोकार्पण एवं शिलान्यास


यूपी बदायूं। उत्तर प्रदेश सरकार के उप मुख्यमंत्री/चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक ने सात-सात लाख रुपए की लागत के हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर उझानी में 9 करोड़ 54 लाख रुपए से ड्रग वेयर हाउस का निर्माण, जिला चिकित्सालय में 02 करोड़ 46 लाख रुपए से अग्निशमन यूनिट की स्थापना यहीं 56 करोड़ 20 लाख रुपए से डायलिसिस यूनिट की स्थापना सहित कुल 69.67 करोड़ रुपए की 24 परियोजनाओं का बटन दबाकर लोकार्पण एवं शिलान्यास किया तथा डेंगू व मलेरिया जागरुकता रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने 5 आशाओं को स्मार्टफोन एवं 7 स्टाफ नर्स को नियुक्ति पत्र प्रदान किए हैं। रवाना की गई मोबाइल वेटरनरी यूनिट सहसवान, इस्लामनगर ,बिसौली क्षेत्र में कार्यरत रहेंगी। लंबी स्किन डिजीज पश्चिमी जिलों से पूरब की तरफ बढ़ रही है। इसलिए जनपद के पश्चिमी क्षेत्र पर इन मोबाइल वेटनरी यूनिट को रवाना किया गया। लंपी स्किन डिसीज़ से संबंधित गोवंश का उपचार किया जाएगा साथ ही निर्धारित रिंग अथवा रूट पर जाकर टीकाकरण कार्य किया जाएगा, जिससे लंपी स्किन डिजीज को रोकथाम करने में आसानी रहेगी।


गुरुवार को कलेक्ट्रेट में विकास कार्याें की समीक्षा बैठक के दौरान बेहाल स्वास्थ्य एवं बिजली व्यवस्थाओं की सर्वाधिक शिकायतें मिलने पर डिप्टी सीएम ने चिकित्सा विभाग के अधिकारियों एवं विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता को आड़े हाथ लिया है। उन्होंने दोनों ही विभागीय अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि जनपद में व्यवस्था को सुधार कर जनपद को प्रदेश में नंबर वन की पोजीशन पर ले जाएं। कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में उपमुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी दीपा रंजन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर ओम प्रकाश सिंह मुख्य विकास अधिकारी ऋषि राज तथा सदर विधायक महेश चन्द्र गुप्ता, दातागंज विधायक राजीव कुमार सिंह, बिल्सी विधायक हरीश शाक्य, भाजपा जिलाध्यक्ष राजीव कुमार गुप्ता, एमएलसी बागीश पाठक, जिला पंचायत अध्यक्ष वर्षा सिंह, एमएलसी बागीश पाठक, पूर्व विधायक धर्मेंद्र शाक्य, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक भारती, नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष दीपमाला गोयल सहित जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की।


सबसे पहले उन्होंने कानून व्यवस्था एवं अपराध नियंत्रण के संबंध में एसएसपी से बिंदुवार जानकारी लेते हुए निर्देश दिए कि जनपद में पूर्ण रूप से कानून व्यवस्था सुचारू रहे महिलाओं के प्रति विशेष सुरक्षा एवं सतर्कता बरती जाए गुंडा माफिया पर कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने सीएमओ प्रदीप वार्ष्णेय स्वास्थ्य एवं चिकित्सीय सेवाओं के संबंध जानकारी लेते हुए अवगत कराया कि जनपद भ्रमण के मौके पर उन्हें सबसे ज्यादा शिकायतें स्वास्थ्य एवं विद्युत की लचर व्यवस्थाओं के संबंध में मिली है। व्यवस्थाओं का सुधार करें अन्यथा इस प्रकार की लापरवाही को किसी भी प्रकार से माफ नहीं किया जाएगा। उन्होंने निर्देश दिए कि चिकित्सालयों में सांप एवं कुत्ता काटने के इंजेक्शन पर्याप्त उपलब्ध है, एक भी पीड़ित आता है तो उसका तत्काल उपचार किया जाए। राजकीय मेडिकल कॉलेज में बाजार से ऑक्सीजन गैस मंगाने के संबंध में प्राचार्य के कार्य से असंतोष व्यक्त करते हुए कहा है कि ऑक्सीजन प्लांट होते हुए बाजार से ऑक्सीजन गैस क्यों मंगाई जा रही है। उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिए कि सभी चिकित्सक अस्पतालों में ही निवास करें डीएम एवं सीएमओ समय-समय पर चिकित्सालय सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों आदि का निरीक्षण करते रहे चिकित्सीय सेवाओं में कोई भी लापरवाही न बरती जाए। जल जीवन मिशन योजना के अंतर्गत चल रहे कार्य की गति धीमी पाए जाने पर अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देश दिए कि तेज गति से कार्य कराकर समय से पूर्ण करें। उन्होंने लोक निर्माण विभाग द्वारा कराए जा रहे सड़कों के सुधार हेतु गड्ढा मुक्त के कार्य को तेजी से कराने के निर्देश दिए है।


तत्पश्चात उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों की क्लास लेते हुए कहा कि जनता में रोष है कि आपके अधिकारी कर्मचारी या तो फोन स्विच ऑफ रखते हैं या फोन उठाते ही नहीं है पहले भी जनप्रतिनिधियों के माध्यम से यह शिकायतें आप तक पहुंचाई जाती रही हैं परंतु कोई भी असर देखने में नहीं आया है। उन्होंने अधीक्षण अभियंता विद्युत के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुए पूछा कि जब शासन से पूरी बिजली मिल रही है तो कम क्यों दी जा रही है अधीक्षण अभियंता ने उन्हें अवगत कराया कि पहले के मुकाबले बिजली की खपत अधिक हो गई है जिस कारण लाइन लॉस व अन्य कारणों से बिजली आपूर्ति में समस्या आ रही है। डिप्टी सीएम नेनाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि सभी अव्यवस्थाओं को खत्म कर बिजली आपूर्ति की जाए लोकल फॉल्ट को त्वरित रूप से सही किया जाए बिजली व्यवस्था सुधारने के लिए नियमित रूप से विद्युत उप केंद्रों का निरीक्षण करते रहें साथ ही यह भी ध्यान रखें कि गलत बिलिंग ना होने पाए। सभी अधिकारी अपने फोन को खुला रखें एवं शिकायतें आने पर समस्या का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण कराएं।


अंत में उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी एवं मुख्यमंत्री जी का निर्देश है कि जनता जर्नादन की समस्याओं के निस्तारण के लिए अधिकारी तत्पर रहें शासन द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जन कल्याण योजनाओं का लाभ सभी पात्रों तक मिलता रहे। टीम भावना से ईमानदारी से अपने कर्तव्यों का निर्वाह करें एवं मेहनत करके जनपद को नंबर वन की पोजीशन पर लाएं। अधिकारी नियमित रूप से निरीक्षण करते रहें जिससे जनता की समस्याओं का समय से निस्तारण हो सके। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व संतोष कुमार वैश्य तथा अपर जिलाधिकारी प्रशासन विजय कुमार सिंह सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।