• nationbuzz3

चेयरमैन व विधायक रहते हुए सभी मजहब बिना किसी भेदभाव के हमने विकास कराए, आबिद रज़ा


यूपी बदायूं। शहर के एक हॉल में बदायूं विधानसभा के अंतर्गत 128 मुस्लिम गांव तथा वजीरगंज,,कुँवरगांव के संभ्रांत मुस्लिम लोगों का सम्मेलन किया गया ।जिसमें मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री आबिद रजा रहे। इस सम्मेलन में हजारों मुस्लिम समाज के लोग इकट्ठा हुए ।आबिद रजा को सुनने के लिए मुस्लिम समाज का जनसैलाब उमड़ पड़ा । जिले के मुस्लिम समाज के धर्मगुरुओं ने पूर्व मंत्री आबिद रजा को 2022 के चुनाव में जीत की पगड़ी बांधी और अल्लाह से दुआ की कि अल्लाह ताला आबिद रजा को 2022 के चुनाव में हिंदू मुस्लिम सभी समाज का वोट मिले और आबिद रजा विधायक बनने के बाद हिंदू मुसलमान के सभी जायज काम करें मंच पर बैठे वक्ताओं ने कहा आबिद रजा ने चेयरमैन व विधायक रहते हुए सभी मजहब के इलाके में विकास कराए अगर आबिद रजा ने मस्जिद के पास की सड़के बनाई तो आबिद रजा ने मंदिर ,,गुरुद्वारे व गिरजाघर के आसपास की सड़के भी बनाई । यही बात आबिद रजा को और नेताओं से अलग करती है।


मौलाना अफ़लाक रजा ने कहा पूरे बदायूं जिले में आबिद रजा एकमात्र मुस्लिम नेता हैं जो मुसलमानों के हक की आवाज उठाते हैं बाकी नेता अपनी अपनी पार्टी का रुख देखकर मुसलमानों की मजबूत आवाज ना बनकर दिखावा ज्यादा करते हैं ।मुसलमानों को केवल अच्छी-अच्छी बातों से बहकाने का काम करते हैं लेकिन आबिद रजा जब भी मुसलमानों पर नाइंसाफी होती है उनके लिए मजबूती से खड़े हो जाते हैं।आबिद रजा मुसलमानों की हिमायत करते वक्त यह नहीं देखते हैं कि वह किस पार्टी में है चाहे पार्टी के बड़े नेता उनसे नाराज हो जाएं । हमें ऐसा ही बहादुर नेता चाहिए मुसलमानों की हिमायत करने से उनका सियासी और आर्थिक नुकसान भी बहुत होता है लेकिन आबिद रजा इसकी भी परवाह नहीं करते सियासी पार्टियां मुसलमान का वोट हासिल करने के लिए दिखावा ज्यादा करती हैं लेकिन मुसलमानों का हकीकत में भला नहीं करती। सियासी पार्टियों का मुसलमानों के प्रति दिखावे व हकीकत में बहुत फर्क है।


मौलाना शमीम हुसैन कादरी ने कहा आबिद रजा को पूरे जिले का नहीं बल्कि पूरे मंडल का मुसलमान उनके इस तेजतर्रार छवि व मजबूत नेता होने की वजह से बेहद पसंद करता है इसलिए आबिद रजा जिस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे उसी पार्टी को पूरे ज़िले का मुसलमान वोट देगा ।आबिद रजा बदायूं विधानसभा से जिस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे मुसलमान उसी पार्टी को वोट देगा क्योंकि मुसलमान बदायूं में सिर्फ आबिद रजा को जानता है इसलिए पूरे जिले का मुसलमान चाहता है कि आबिद रजा हमारी विधानसभा से चुनाव लड़े लेकिन हमारी ख्वाइश यह है कि आबिद रजा बदायूं विधानसभा से चुनाव लड़े क्योंकि उन्होंने चेयरमैन रहते या विधायक रहते जितना विकास बदायूं में कराया है उतना विकास कोई विधायक नहीं करा सकता


मौलाना असलम साहब ने कहा आबिद रजा के काम करने के तरीके को देखकर आबिद रजा को हिंदू समाज ,सिख समाज, ईसाई समाज के लोग भी पसंद करते हैं वह सिर्फ मुसलमानों के नेता नहीं है बल्कि वह सर्व समाज के नेता हैं आबिद रजा जब विधायक, मंत्री थे तब उनके वक्त में किसी गरीब को कोई परेशानी नहीं थी चाहे वह किसी भी मजहब का क्यों ना हो अधिकारी निरंकुश नहीं थे ।सारे विभाग के अधिकारी आबिद रजा से बहुत डरते थे ।हर मजहब के मध्यमवर्गीय, गरीब वर्ग के लोगो को बेवजह पुलिस परेशान नहीं करती थी ।सरकारी विभागों में आबिद रजा का बहुत रुतबा होता था इसी वजह से जनता सुकून में रहती थी। आबिद रजा का रवैय्या दलालों के प्रति बहुत सख्त होता था। थानों में दलाली नहीं होती थी ।आबिद रजा के समय में सभी दलाल बहुत परेशान रहते थे आज सारे दलाल सक्रिय हैं और बदायूं की जनता का खून चूस रहे हैं ।


तमाम मुस्लिम समाज के लोगों ने हाथ उठाकर यह तय किया हम सिर्फ और सिर्फ आबिद रजा के साथ हैं सन 2022 के चुनाव में विधायक बनने के लिए अल्लाह से दुआ करते हुए कहा हम आज से ही मेहनत में जुट जाएंगे। हिंदू भाइयों को भी अपने साथ जोड़ेंगे और इंशा अल्लाह आबिद रजा को विधायक बना कर मानेंगे।


संबोधन में पूर्व मंत्री आबिद रज़ा ने कहा हम हमेशा तुम्हारी मजबूत आवाज बनते हैं ।तुम्हारे साथ जब जब नाइंसाफी होती है हम अपने नुकसान की परवाह नहीं करते तुम्हारे हक की लड़ाई जरूर लड़ते हैं ।इसलिए हमारे सियासी दुश्मन भी बड़े हैं अब जब हमारे सियासी दुश्मन तुम्हारी हिमायत की वजह से बड़े बन ही गए हैं तो हमने अपना सिफारशी भी बड़ा बना लिया है हमने अपना वकील अपना सिफारशी , अपना जज सिर्फ अल्लाह ताला को बना लिया है । अब अल्लाह ही इंसाफ करेगा क्योंकि भाजपा हमें हराना चाहती है और कुछ लोग साजिश करके हमें कमजोर करना चाहते हैं जिले में मुसलमानों की सियासत को खत्म करना चाहते हैं हमारे खिलाफ मुसलमान प्रत्याशियों की फौज बनाई जाती जो आज तक प्रधानी और मेम्बरी भी नहीं जीते उन्हें हमारे खिलाफ साजिश करके इकट्ठा किया जाता है । कुछ मुसलमान भाजपा के इशारे पर तुमको बहकाने आएंगे उन्हें पहचान लेना उन्हें चुनाव में सही जवाब देना।