• nationbuzz3

दिवाली के मौके पर बाजार में खूब रौनक धनतेरस पर जिलेभर में लाखों का कारोबार


यूपी बदायूं। बदायूं : कोरोना महामारी से राहत मिलने के बाद मंगलवार को धनतेरस धूमधाम से मनाया गया। ग्राहकों की भीड़ उमड़ी तो सराफा बाजार झूम उठा। सोने का भाव 49,800 रुपये से बढ़कर 50,000 रुपये पहुंच गया, फिर भी सुबह से लेकर देर रात तक करोड़ों का कारोबार हुआ। बर्तन और वाहन बाजार में भी रौनक बनी रही, इलेक्ट्रानिक्स की दुकानों पर भी भीड़ दिखाई पड़ी। धनतेरस पर जिलेभर में करीब 100 करोड़ का कारोबार हुआ है।


धनतेरस पर ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए बड़े सराफा कारोबारियों ने ग्राहकों के लिए उपहार और छूट की योजना लागू कर रखी थी। आम आदमी की आर्थिक दिक्कतों को देखते हुए भारी जेवरों के साथ हल्के जेवर भी मंगाए गए थे, ताकि ग्राहक दुकान पर आ जाए तो वापस न लौटने पाए। दोपहर तक बाजार में हालात सामान्य रहे, लेकिन बाद में ग्राहकों की भीड़ बढ़ती गई और दुकानों पर लाइन लगने लगी। बाजार में वाहन लेकर दूर, पैदल निकलना मुश्किल हो रहा था। सराफा बाजार में कारोबार अच्छा हुआ। छोटे दुकानदारों के यहां भी ग्राहक दिखे, लेकिन अपेक्षा के अनुरूप उनकी बिक्री नहीं हुई। उझानी, बिसौली, सहसवान, दातागंज, वजीरगंज और इस्लामनगर के बाजारों में भी देर रात तक चहल-पहल बनी रही। सराफा बाजारों में कितने करोड़ का कारोबार हुआ इसकी सटीक जानकारी तो किसी के पास नहीं, लेकिन 50 करोड़ से अधिक के कारोबार का अनुमान लगाया जा रहा है। आटोमोबाइल्स एवं इलेक्ट्रानिक्स की दुकानों पर भी खासी भीड़ दिखाई पड़ी। आटोमाबाइल और इलेक्ट्रानिक्स बाजारों में भी 30 से 40 करोड़ के बीच कारोबार होने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसी तरह बर्तन बाजार भी सुबह से लेकर शाम तक गुलजार रहे। जिलेभर में करीब 10 करोड़ के बर्तनों की बिक्री का भी अनुमान लगाया जा रहा है। रात दस बजे के बाद भीड़ कम होने लगी, लेकिन आधी रात तक दुकानों पर ग्राहकों का आवागमन बना रहा। खील-बतासे और झाड़ू भी खूब बिके।


बाजार में नो-एंट्री लागू करने के बाद मंगलवार को पुलिस भी तैनात कर दी गई। इससे काफी हद तक ऑटो और ई-रिक्शा को बाजार में जाने से रोका जा सका लेकिन इसके बावजूद तमाम ई-रिक्शा बाजार से गुजरते नजर आए। इससे कई जगह जाम भी लगा। देर रात तक बाजार में खूब भीड़भाड़ रही।