• nationbuzz3

बदायूं में सांस लेने की परेशानी और कोरोना से उपचार के दौरान बढ़ रहा मौत का आकड़ा


यूपी बदायूं। जिले में बीमारी व सांस लेने में तकलीफ से 11 व मेडिकल कालेज में आठ कोरोना संक्रमितों सहित कुल 21 लोगों की मौत हो गयी। मरने वालों में एक डेढ़ माह का नवजात भी शामिल है। जिसे निमोनिया था और जिला अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गयी। जिला अस्पताल में 24 घंटे से आक्सीजन नहीं है। लगातार गंभीर मरीज आने से आपरेशन थियेटर में रखे दो आक्सीजन सिलेंडर मंगाकर काम चलाया जा रहा है। जिसके चलते आपरेशन नहीं हो सके।


बुधवार को जिला अस्पताल में आठ मौते हुयीं। इसमें कुछ ऑक्सीजन न मिलने से तथा कुछ बीमारी के चलते मौत हो गयीं। शहर के मोहल्ला लोटनपुरा निवासी गौरी की इलाज के दौरान मौत हो गयी। इसके अलावा रात के समय भर्ती पांच महिला पुरुषों की इलाज के दौरान मौत हो गयी। वहीं सुबह आठ बजे के करीब जिला अस्पताल पहुंची एक और महिला की मौत हो गयी। बिसौली रोड़ के गुरुपुरी विनायक निवासी ओमपाल की पत्नी शांति देवी की मौत हो गयी। उन्हें भी सांस लेने में दिक्कत हो रहीं थीं। वहीं दोपहर के समय शहर के मोहल्ला आदर्श नगर निवासी बुजुर्ग महिला की उपचार के बाद घर ले जाने पर मौत हो गयी। नई सराय इलाके के बुजुर्ग की मौत हो गयी। ककराला में सर्राफा व्यापारी की बरेली में आक्सीजन न मिल पाने से मौत हुयी। इसके अलावा वार्ड आठ में दो लोगों की मौत हुयी।


इधर, कोरोना से जिले के आठ और लोगों की मेडिकल कालेज में उपचार के दौरान जान चली गयी। सबसे ज्यादा मौत रात के समय हुयीं। जिनके शव को परिजनों को सौंपकर कोरोना की गाइड लाइन के अनुसार अंतिम संस्कार करा दिया है। वहीं कुछ परिजनों की डॉक्टर व स्टाफ से नोकझोंक भी हुयी। इधर एसएसपी संकल्प शर्मा व सीडीओ निशा अनंत दोपहर में मेउिकल कालेज पहुंचे। ऑक्सीजन के लिये गैर जिलों में बात की है। दोपहर में शेखूपुर विधायक धर्मेंद्र शाक्य भी यहां पहुंचे और व्यवस्थाओं की जानकारी ली। मेडिकल कालेज में लगातार ऑक्सीजन का संकट बना हुआ है।