• nationbuzz3

डीएम ने जिला अस्पताल का किया औचक निरीक्षण दिए निर्देश, बाहर से दवा न लिखी जाए


यूपी बदायूं। जिलाधिकारी दीपा रंजन ने मुख्य विकास अधिकारी ऋषिराज व सिटी मजिस्ट्रेट ब्रजेश कुमार सिंह के साथ बुधवार को जिला पुरुष चिकित्सालय में ओपीडी, क्षय रोग नियंत्रण, इमरजेंसी, औषधि भण्डार, एनआरसी, नेत्र, सिटी स्कैन, एक्स-रे, अल्ट्रासाउण्ड आदि सहित विभिन्न वार्डों का औचक निरीक्षण किया। डीएम ने उपलब्ध दवाओं एवं उपस्थिति पंजिकाओ का अवलोकन किया। अनुपस्थित स्टाफ को स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिए हैं। औषधि भण्डार एवं वितरण में पहुंचकर डीएम ने दवाओं की उपलब्धता एक्सपायरी डेट चेक की एवं पंजिकाओं का भी निरीक्षण किया। औषधि वितरण केन्द्र में राकेश कुमार से डीएम ने वितरित की जाने वाली दवाओं की एक्सपायरी डेट, स्टॉक रजिस्टर आदि के सम्बंध में जाना, तो वह संतोषजनक उत्तर न दे सके। डीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए स्पष्टीकरण के निर्देश दिए हैं।


डीएम ने निर्देश दिए कि इमरजैंसी और जनरल वार्डां के बाहर तीमारदारों के बैठने तथा मरीजों के लिए व्हील चेयर की भी व्यवस्था रहे। वार्डां के बाहर चिकित्सकों के नाम, मोबाइल नम्बर तथा उपलब्ध दवाओं की वॉलपेटिंग कराई जाए। सिटी स्कैन, एक्स-रे, अल्ट्रासाउण्ड के लिए मरीज को टोकन जारी किया जाए, जिससे उन्हें समय की दिक्कत न हो। क्षय रोग वार्ड में पहुंच कर डीएम ने मरीजों एवं टीवी के उपचार कोर्स के बारे में जानकारी ली। इमरजेंसी वार्ड में पहुंचकर डीएम ने व्यवस्था एवं चिकित्सकों की स्थिति का जायजा लिया।


जनरल वार्डों में पहुंचकर उन्होंने मरीजों से उनका हालचाल जाना एवं तीमारदारों से व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली कि चिकित्सक देखने आते हैं भोजन गुणवत्ता पूर्वक मिलता है एवं दवाओं को चिकित्सालय से ही दिया जाता है या नहीं या फिर बाजार से तो दवाई नहीं लिखी जाती हैं। कुछ मरीजों ने डीएम से दवाओं को बाहर से लिखने की शिकायत की तो डीएम ने चिकित्सक के प्रति कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि सभी मरीजों को अस्पताल के भीतर ही दवाओं को उपलब्ध कराया जाए, किसी को भी बाहर से दवा न लिखी जाए। चिकित्सक नियमित रूप से मरीजों के पास पहुंचकर उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेते रहे। बेडशीट नियमित रूप से बदलती रहे साफ सफाई का विशेष ख्याल रखा जाए। वाहनों को व्यवस्थित रूप से खड़ा कराएं एवं इधर उधर कोई भी गाड़ी ना खड़ी होने दे। इस अवसर पर सीएमएस विजय बहादुर राम मौजूद रहे।