राजकीय मेडिकल कॉलेज में डीएम ने ली एल-2 की व्यवस्थाओं की समीक्षा बैठक


बदायूं। जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने एडी हेल्थ बरेली जावेद हयात, अपर जिलाधिकारी नरेन्द्र बहादुर सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 यशपाल सिंह, प्रधानाचार्य डाॅ0 आरपी सिंह व अन्य चिकित्सकों के साथ राजकीय मेडीकल काॅलेज में स्थापित एल-2 की व्यवस्थाओं के सम्बंध में समीक्षा बैठक आयोजित की।

डीएम ने निर्देश दिए कि कोविड-19 के अन्तर्गत भर्ती मरीजों को समस्त प्रकार की व्यवस्थाओं को समय से उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 में जिन चिकित्सकों की ड्यूटी लगी है, वह ध्यान रखें कि पिछला चिकित्सक आने पर ही अगले चिकित्सक को आने पर ही ड्यूटी से जा सकते हैं। बीएसएल लैब-2 की टेस्टिंग की क्षमता बढ़ाने के साथ ही आरटीपीसीआर की समस्त जांचें यहीं की जाएं। एडी हेल्थ ने निर्देश दिए कि कोविड-19 के अन्तर्गत भर्ती मरीजों का फीडबैक लिया जाए। कोरोना वायरस से हुई मौतों का डेथ ऑडिट उपलब्ध कराएं। मशीनरी एवं मैनपाॅवर की कमी की वजह से कुछ कार्याें की गति ढीली है, इसको पूरा करके कार्य की गति बढ़ाई जाए।


डीएम, एडी हेल्थ एवं एडीएम एफआर ने लेक्चर थिएटर में बीएसएल लैब-2 के टेस्टिंग करने वाले चिकित्सकों को कोरोना यौद्धाओं के रूप में सम्मानित भी किया है। डीएम ने चिकित्सकों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस भयाभय बीमारी कोरोना वायरस से जहां हर कोई अपने आप को एक दूसरे से बचाने की कोशिश कर रहा है और विशेष प्रकार की सावधानियां बरती जा रही हैं। इसी के चलते हमारे चिकित्सक जो जान हथेली पर लिए अपनी जानों की परवाह किए बगैर कोरोना के मरीजों को इलाज कर रहे हैं। इसलिए ऐसे कोरोना यौद्धाओं को सम्मानित करना भी अति आवश्यक है।