• Nationbuzz News Editor

बदायूं डीएम ने स्वास्थ्य विभाग के 25 कोरोना यौद्धाओं को बरेली किया रवाना


बदायूं। कोरोना वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए स्वास्थ्यकर्मी अहम भूमिका निभाए हुए हैं। जहाँ एक ओर दुनिया कोरोना से बचाव के लिए घरों में महफूज़ होना चाहती हैं, ऐसे में अपनी जान हथेली पर रखकर यह कोरोना यौद्धा संक्रमित मरीजों को अपनी सेवाएं दे रहे हैं। हालांकि जनपद में कुल 16 कोरोना संक्रमित मामले प्रकाश में आए थे, जिसमें से 5 लोग रिकवर होकर बरेली से वापस आ चुके हैं। बचे 11 कोरोना संक्रमितों में से 8 लोगों की प्रथम रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है, यदि इनकी द्वितीय रिपोर्ट भी नेगेटिव आ जाती है तो जनपद के केवल 3 संक्रमित की संख्या बचेगी। जिला प्रशासन कोरोना से बचाव के लिए निरंतर जनता से लाॅकडाउन का पालन करने की अपील कर रहा है। मंगलवार को जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने कलेक्ट्रेट परिसर से स्वास्थ्य विभाग 25 सदस्यीय कोरोना यौद्धाओं की टीम का हौसला बढ़ाते हुए बरेली रवाना किया, जिसमें मेडीकल एवं पैरा मेडीकल टीम के डाॅक्टर्स, लैब टेक्निशियन एवं वार्ड ब्वाॅय आदि शामिल हैं। यह टीम बरेली जाकर जनपद के कोरोना पाॅजीटिव मरीजों को अपनी सेवाएं देगी। रिकवर हुए मरीजों का बरेली से वापस आने के पश्चात 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन किया जाएगा। डीएम ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र उझानी का निरीक्षण किया। यहाँ की व्यवस्थाओं को देखकर डीएम ने असंतोष व्यक्त किया। यहाँ न तो शौचालय की व्यवस्था ठीक थी और न ही प्रकाश की समुचित व्यवस्था ठीक थी। डीएम ने इन दोनों व्यवस्थाओं को ठीक करने के निर्देश दिए हैं। यहां 30 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है, जहां एल-1 के कोेरोना पाॅजीटिव लोगों को रखा जाएगा। कलेक्ट्रेट में बनाए गए कंट्रोल रूम का भी डीएम ने निरीक्षण किया। यहाँ लगाए गए प्रभारियों से जाना कि किस प्रकार 05832-266114 पर काॅल आने पर जनता की समस्याओं का समाधान किया जाता है। डीएम ने निर्देश दिए कि प्राप्त शिकायतों का समयवद्ध निस्तारण करें, साथ ही उन्होंने चिकित्सकीय परामर्श हेतु नियुक्त किए चिकित्सकों से भी वीडियों काॅल कर उनसे वार्ता की। चिकित्सकों ने बताया कि प्रतिदिन 10-12 काॅल आती हैं, जिन्हें उचित परामर्श देकर उनकी समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। डीएम ने एसएसपी के साथ उझानी में लाॅकडाउन का निरीक्षण किया। उन्होंने अपील की है कि कोरोना वैश्विक महामारी है। इसके आंकड़े दुनिया सहित देश भर में तेजी से बढ़ रहे हैं। सभी लोग घर में रहकर ही लाॅकडाउन का पालन करें। आवश्यक वस्तुओं की वस्तुओं की दुकाने खुल रही है, सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए आवश्यकतानुसार वस्तुओं की खरीदारी की जा सकती है, साथ ही सप्लाई डोर-टू-डोर भी की जा रही है। इसलिए आवश्यकतानुसार ही घर से बाहर निकलें। यह बहुत ही खतरनांक जानलेवा वायरस है। यह किसी को भी हो सकता है। इसलिए इसे बिलकुल भी हल्के में न लें। आपकी जागरुकता एवं सजगता ही आपके और आपके अपनों के प्राण बचा सकती है। सामाजिक दूरी का निरंतर पालन करें। मुंह को मास्क या रुमाल व अंगौछा से ढकें। बात करते समय उचित दूरी बनाए रखें तथापूर्ण रूप से लाॅकडाउन एवं कोरोना वायरस से बचाव के लिए बताए गए निर्देशों का पालन करें।

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube