• nationbuzz3

हैवानियत की शिकार हुई महिला के परिवार को ढांढस बंधाने पहुंचे डीएम-एसएसपी, 10 लाख मुआवजे का ऐलान


यूपी। बंदायू में दरिंदों की हैवानियत की शिकार हुई आंगनबाड़ी सहायिका के परिवार को ढांढस बंधाने बुधवार को डीएम कुमार प्रशांत और एसएसपी संकल्‍प शर्मा उसके घर पहुंचे। दोनों अधिकारियों ने बंद कमरे में पीड़ित परिवार का दर्द साझा किया। उन्‍होंने पीड़िता के आश्रितों को 10 लाख रुपये मुआवजा समेत बीमा की धनराशि जल्‍द से जल्‍द मुहैया कराने का आश्वासन दिया।


अधिकारियों ने परिवार वालों से पूछा कि उन्हें किसी तरह की असुरक्षा की भावना तो नहीं लग रही। अगर वह खुद को असुरक्षित समझ रहे हों तो उनके दरवाजे पर पुलिस तैनात की जाएगी। हालांकि परिजनों ने इससे इंकार कर दिया। परिवारवालों का कहना था कि वे अकेले रहना चाहते हैं। इंसानियत को शर्मसार करने वाली इस वारदात के बाद वे काफी गमजदा हैं। डीएम ने गांव के कोटेदार को पीड़िता के परिवार वालों को जरूरत का सामान मुहैया कराने का निर्देश दिया। वहीं रानी लक्ष्मीबाई नारी सम्मान योजना के तहत आश्रितों को 10 लाख रुपये बतौर मुआवजा देने का ऐलान किया।


इसके साथ ही पीड़िता की दोनों नाबालिग बेटियों का कन्या सुमंगला योजना में पंजीकरण कराकर जरूरी मदद दिलवाई जाएगी। साथ ही विभाग द्वारा कराए गए बीमा की धनराशि जल्‍द से जल्‍द दिलाने का आश्वासन दिया। अधिकारियों ने स्पष्ट कहा कि प्रशासन उनके साथ है और जल्द ही तीसरे फरार आरोपी की भी गिरफ्तारी की जाएगी। मामले में विभागीय जांच भी शुरू कर दी गई है ताकि यह स्पष्ट हो सके कि लापरवाही किस स्तर पर हुई। दोषी कर्मचारियों के खिलाफ भी कार्रवाई का भरोसा अधिकारियों ने पीड़ित परिवार को दिलाया है।