• Nationbuzz News Editor

शहर में भीड़ जमा कर राशन बाटने पर डीएम, एसएसपी का छापा, मौके पर ही हिरासत में लिया


बदायूं। जिला प्रशासन के अथक प्रयास से जनपद कोरोना मुक्त हो चुका है। लेकिन शिक्षित नागरिक ही लाॅकडाउन की धज्जियाँ उड़वाएं तो यह बड़े ही विडम्वना का विषय है। डीएम एवं एसएसपी को लाॅकडाउन के निरीक्षण के दौरान एक विद्यालय में एक एडवोकेट प्रशासन की बिना अनुमति के भीड़ को इकट्ठा कर खाद्यान वितरित किया जा रहा था। न भीड़ ने मुंह को मास्क या रुमाल से ढका हुआ था और न ही फिजीकल डिस्टेंस का पालन किया जा रहा था। डीएम ने अधिवक्ता और उसके 19 साथियों को पुलिस हिरासत में लेकर उनपर धारा 188, 269, 144 का उल्लंघन करने सहित एपिडेमिक एक्ट सहित अन्य सुसंगत धाराओं में कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। मंगलवार को शहर में लाॅकडाउन का निरीक्षण कर रहे जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी को चक्कर की सड़क स्थित बदायूँ पब्लिक स्कूल के आसपास भीड़ देखने को मिली। माजरा जानने के लिए दोनों वरिष्ठ अधिकारी गाड़ी से उतरे तो भीड़ इधर-उघर भागने लगी। विद्यालय का गेट भीतर से बंद कर लिया गया। एसएसपी ने साउंड के माध्यम से कहा कि भवन स्वामी तत्काल प्रभाव से गेट खोलें, गेट न खोलने पर मजबूरी में गेट को तोड़ दिया जाएगा। तलाशी लेनी है, साथ ही सुसंगत धाराओं में मुकदमा भी पंजीकृत किया जाएगा। गेट खुलने पर भीतर से आए व्यक्ति ने कहा कि अंदर कोई नहीं है, जो भी लोग थे, उनको दूसरे गेट से निकाल दिया जा चुका है। एसएसपी ने सिपाहियों को अंदर जाकर देखने के निर्देश दिए तो भीड़ कमरों में थी, इन्हें बाहर निकाला गया। प्रशासन की बिना अनुमति से भीड़ जमा कर खाद्यान वितरण रहे एडवोकेट ख्यासाल उद्दीन पुत्र जलाल उद्दीन सहित उसके 19 साथियों को मौके पर ही हिरासत में लिया

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube
© Copyright ® All rights reserved Nation Buzz 2017 - 2020