• nationbuzz3

भयंकर गर्मी में बिजली न मिलने पर ग्रामीणों की कर्मियों से नोकझोंक, हंगामा


यूपी बदायूं। उघैत संवाददाता: सूरज की तपिश बढ़ने के साथ बिजली का संकट शुरू हो गया है। बिजली न मिलने से लघु उद्योग धंधे एवं किसानों की फसल चौपट हो रही है। समस्या से परेशान दर्जनों लोगों ने बिजलीघर का घेराव कर हंगामा किया। मौके पर मौजूद संविदा कर्मचारियों से नोकझोंक हो गई। बाद में पुलिस एवं संभ्रांत नागरिकों के समझाने के बाद मामला शांत हुआ।


गुरुवार की दोपहर बिजलीघर से पोषित गांव रमपुरिया के दर्जनों ग्रामीण बिजलीघर पर आ धमके। ग्रामीणों को देखकर आस पड़ोस के लोग भी नाराजगी जताने आ गए। भारतीय किसान यूनियन से जिला महासचिव सुरेंद्र सिंह के आने के बाद हंगामा बढ़ गया। ग्रामीणों एवं बिजली कर्मचारियों के बीच जमकर नोकझोंक हो गई। दोनों पक्षों में मारपीट की नौबत आने पर मौके पर मौजूद संभ्रांत नागरिकों एवं सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को शांत किया। इसके बाद बंद बिजली सप्लाई चालू की गई।


कनेक्शन बढ़े, नहीं बढ़ाई क्षमता


करीब ढाई साल पहले सरकार ने ब्लॉक को डार्क जोन से खत्म किया था। इसके बाद बिजलीघर से जुड़े ग्रामीण अंचलों में करीब 400 निजी नलकूप कनेक्शन शुरू हो गए। इसके अलावा सौभाग्य योजना के तहत भी 800 घरेलू कनेक्शन दिए गए हैं, लेकिन सिर्फ एक ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाकर कुछ मशीनों को बदला गया। इसकी वजह से पहले से ओवरलोड चल रहा सिस्टम अतिरिक्त ओवरलोड हो गया एवं इलाके की बिजली सप्लाई बदहाल हो गई।


यह है उपभोक्ताओं को दरकार


20 एमबीए के तीन ट्रांसफार्मर छह फीडर के लिए जरूरी हैं। जब तक यह व्यवस्था महकमा नहीं कर सकेगा, तब तक बिजली संकट दूर होने की कोई संभावना नहीं है।

अफसर एवं कर्मचारी मनमानी कर रहे हैं। सप्लाई न देकर किसानों का शोषण किया जा रहा है। इन हालातों से किसान यूनियन समझौता नहीं करेगी। सुधार ना होने पर आंदोलन करेंगे।


चौधरी सुरेंद्र सिंह भाकियू नेता


ओवरलोडिंग की वजह से दिक्कत आ रही है एक मुख्य ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि शीघ्र करा दी जाएगी इसके बाद बिजली सप्लाई में सुधार हो जाएगा।


राजेंद्र सिंह एसडीओ इस्लामनगर