• nationbuzz3

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में धांधली के डर से सपाइयों ने अस्पताल में डाला डेरा


यूपी बदायूं। जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में सदस्य के साथ सहयोगी ले जाने की व्यवस्था है। यह व्यवस्था उन सदस्यों के लिये है जो बीमार हैं, आशक्त हैं। ऐसे में वोट डालने के लिये उनके साथ सहयोगी जा सकता है। सपा नेताओं को आशंका है कि कहीं भाजपा नेता इस नियम का गुपचुप फायदा न उठा लें। इसके चलते दूसरे दिन भी सपा नेता बदायूं जिला अस्पताल में सीएमएस के कक्ष के बाहर डेरा डाल लिया।


निर्वाचन विभाग ने बीते दिनों आदेश जारी किया था, जिसमें कहा था कि अगर कोई दिव्यांग, नेत्रबधित जैसा जिला पंचायत सदस्य है तो वह मतदान के लिये पुत्र, पुत्री, भाई, बहन आदि परिवार के सदस्यों को हेल्पर बना सकता है। इसके लिये चुनाव से 48 घंटे पहले आवेदन करना होगा और फिर स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाना होगा।


इस प्रक्रिया को लेकर गुरुवार की तरह शुक्रवार को सपा जिलाध्यक्ष प्रेमपाल सिंह को पता चला कि 48 घंटे के बाद भी हेल्परों के स्वास्थ्य प्रमाण पत्र बनवाये जा रहे हैं तो सपा के प्रतिनिधि मंडल के साथ जिला पुरुष अस्पताल पहुंच गये। यहां सीएमएस विजय बहादुर राम से वार्ता की और सीएमएस ने आश्वासन दिया कि कोई ऐसा प्रमाण पत्र नहीं बनवाया है, इसके बाद भी सपा नेता जिला अस्पताल में निगरानी को मौजूद हैं।