• nationbuzz3

फैजगंज बेहटा: दुष्कर्म के बाद की थी किशोरी की हत्या, दरिंदे को पुलिस ने किया गिरफ्तार


यूपी बदायूं। दलित लड़की की रेप के बाद हत्या कर दी गई। लड़की शुक्रवार रात से लापता थी। शनिवार सुबह लगभग 11 बजे उसका शव मिला। रविवार सुबह पुलिस ने आरोपी जितेंद्र की गिरफ्तारी दिखा दी। आरोपी ने रेप और हत्या की बात कबूल ली है। उसने पुलिस को बताया कि वो शराब के नशे में था। रेप के बाद मुंह में मिट्‌टी भरकर उसे दबा दिया। दम घुट गया। थोड़ी देर में लड़की की मौत हो गई।


मामले में लड़की की मां ने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा, "चौकी पर तैनात स्टाफ अगर लापरवाही न करता तो आज मेरी बेटी जिंदा होती। चौकी वालों ने मेरी बेटी को मरवा दिया।" लड़की की उम्र 16 साल थी। फैजगंज बेहटा इलाके के एक गांव में मां, पिता और भाई के साथ रहती थी।


शुक्रवार रात लापता हुई थी लड़की

पीड़िता शुक्रवार रात को लापता हुई थी। उसकी मां ने कहा, "मेरी बेटी मानसिक रूप से कमजोर थी। वो अक्सर गांव में घूमने के लिए चली जाती थी। उस दिन यानी शुक्रवार को भी ऐसा ही हुआ था। बेटी गई थी, लेकिन वापस नहीं लौटी। काफी देर नहीं लौटी तो हमने गांव में तलाश शुरू की। आस-पास के लोगों से पूछताछ की, लेकिन उसका पता नहीं चला। हम चौकी पर भी गए। वहां पुलिस को बेटी के लापता होने के बारे में बताया। उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। "


शनिवार को मिली मिट्‌टी से सनी लाश

शनिवार को गांव के लोगों को आसफपुर रेलवे स्टेशन के पीछे एक लड़की की लाश दिखी। उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची तो लड़की के कपड़े अस्त-व्यस्त थे। उसके मुंह में मिट्‌टी भरी हुई थी। चेहरा भी पूरा मिट्‌टी से सना था। कुछ ग्रामीणों ने शव की शिनाख्त कर ली। उन्होंने परिवार के बारे में बताया। वहां भीड़ बढ़ती जा रही थी। पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस को डर था कि कहीं कोई बवाल न शुरू हो जाए।


पुलिस ने संविदा लाइनमैन को गिरफ्तार किया है। पूछताछ ने उसने किशोरी के साथ दुष्कर्म के बाद गला दबाकर हत्या करने का जुर्म कबूल कर लिया है। शुक्रवार की रात किसी ने किशोरी को ले जाते उसे देख लिया था। आरोपी की आसफपुर रेलवे स्टेशन पर मिठाई की दुकान भी है।


एसएसपी डॉ. ओपी सिंह ने बताया, शुक्रवार की शाम किशोरी गांव से आसफपुर आयी थी। रात के समय आसफपुर रेलवे स्टेशन के समीप मिठाई की दुकान चलाने वाले जितेंद्र यादव ने उसे देखा। रात साढ़े नौ बजे शराब के नशे में धुत्त जितेंद्र ने उसे घर छोड़ने के बहाने स्टेशन के पीछे एक खेत में ले गया, जहां उसके साथ दुष्कर्म किया। किशोरी के पहचानने पर उसकी गला दबाकर हत्या की और चेहरे पर मिट्टी से ढंक दिया। इस मामले में पुलिस ने रात में ही आरोपी को उठा लिया था। पूछताछ के दौरान आरोपी ने अपनी जर्म कबूल कर लिया है।


विदित हो, शनिवार सुबह करीब 10 बजे फैजगंज बेहटा क्षेत्र के आसफपुर रेलवे स्टेशन के पीछे आरिल नदी की कटरी में दलित किशोरी का शव मिला। घटना की जानकारी पर दोपहर करीब 12 बजे फैजगंज बेहटा थाना इलाके के एक परिवार को उनकी बेटी की मौत की जानकारी मिली तो वह रोते बिलखते घटनास्थल पर पहुंचे। वहां पुलिस ने किशोरी की हादसे में मौत बताकर शिनाख्त के लिए पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया। परिजनों ने दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। मां के मुताबिक शुक्रवार शाम छह बजे किशोरी घर से निकली थी।