• Nationbuzz News Editor

प्रसूता को अस्पताल ले जाने को एंबुलेंस का परिजन करते रहे इंतजार, सड़क पर हो गई डिलीवरी


बदायूं। लॉकडाउन में लाचारी शहर में एक बार फिर सिस्टम की पोल खुल गई है प्रसूता को अस्पताल ले जाने को एंबुलेंस का परिजन करते रहे इंतजार, सड़क पर हो गई डिलीवरी सदर कोतवाली के मोहल्ला लालपुल निवासी संजू की पत्नी शिखा 22 वर्ष के प्रसव पीड़ा हुई तो पति ने 102 एंबुलेंस के लिए कॉल की। काफी देर इंतजार किया, फिर भी एंबुलेंस नहीं पहुंची। परेशान पति और परिजन प्रसव पीड़ा से कराहती हुई शिखा को लेकर पैदल ही अस्पताल चल दिए। वह अभी घर से बाहर सड़क तक पहुंचा था, कि प्रसव पीड़ा तेज हुई तो शिखा सड़क पर ही लेट गई। आसपास की महिलाएं आ गई, जिन्होंने चादर तान कर सड़क पर ही डिलीवरी करा दी। सड़क पर हुई डिलीवरी ने 102 एंबुलेंस सेवा की पोल खोल दी है, कि आपात सेवा कितनी अलर्ट है। इधर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने भी सड़क पर हुई डिलीवरी को लेकर कुछ नहीं कहा। फिलहाल जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ्य बताए जा रहे हैं।