बदायूं डीएम, एसएसपी द्वारा रोडवेज स्थित रैन बसेरा का निरीक्षण कर खाद्य सामग्री चैक की


बदायूं। लाॅकडाउन के चलते ऐसे लोग जो बेसहारा और बे घर है, जिनके भरण पोषण का कोई सहारा नहीं हैं। जिला प्रशासन ने उन लोगों के लिए खाने की व्यवस्था आश्रय गृह में की है, जहां ऐसे लोग निःशुल्क भोजन कर सकते हैं। डीएम एवं एसएसपी ने आश्रय गृह में स्थित सामुदायिक रसोई में बन रहे भोजन की गुणवत्ता का परखकर संतोष जताया। दोनों वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि जनपद में कोई भी व्यक्ति भूखा न सोने पाए, बेसहारा और बेघर लोगों का खास खयाल रखा जाए। उन्होंने यहां ठहरे लोगो से भी व्यवस्थाओं के बारे में जाना। गुरुवार को जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने लाॅकडाउन में सभी नागरिकों से घरों में रहने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि इस खतरनाक बीमारी को कतई हल्के में न लिया जाए। दुनिया में अभी तक इसकी दवा नहीं बन सकी है। घर में रहकर आप खुद को और अपने अज़ीजों को इस बीमारी से बचा सकते हैं। अहतियात बहुत ज़रूरी है, घर में रहकर ही इस बीमारी की ज़द में आने से बच सकते हैं। बच्चों और बुजुर्गाें को घर से बाहर बिल्कुल भी न निकलने दें, बहुत ज़रूरी होने पर बाहर निकला जाए, बार-बार हाथों को सैनेटाइज़र एवं साबुन से धोते रहे। बात करते समय एक मीटर का फासला बनाए रखें, मास्क से मुंह ढकने सहित इस बीमारी से बचने के लिए बताए गए सभी निर्देशों का पूर्णतया पालन करें। लाॅकडाउन का फायदा उठाने वाले ऐसे दुकानदार जो सामान को ओवररेट में बेच रहे है, उनकी शिकायत जिला प्रशासन को फोन के ज़रिए उपलब्ध हो रही है। वो प्रशासन की नज़र में हैं तत्काल सुधर जाएं, वरना उनको सलाखों के पीछे पहुंचा दिया जाएगा। लाॅकडाउन में जितना हो सके एक दूसरे की मदद करें, मजबूरी का फायदा बिलकुल न उठाएं। सभी सामानों को उचित दरों पर बेचें।