पूर्व विधायक सिनोद शाक्य ने ली भाजपा की सदस्यता, लोकसभा के लिए विकल्प बनाने की तैयारी


यूपी बदायूं। भाजपा प्रदेश कार्यालय लखनऊ में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, संगठन महामंत्री सुनील बंसल ने दातागंज क्षेत्र के पूर्व विधायक सिनोद शाक्य को भाजपा की सदस्यता ग्रहण कराई। इस मौके पर केंद्रीय राज्यमंत्री बीएल वर्मा व जिलाध्यक्ष राजीव कुमार गुप्ता की मौजूदगी में सिनोद शाक्य को पार्टी का पटका पहनाया गया।


सिनोद सपा से एमएलसी प्रत्याशी थे और उनके नामांकन वापस लेने से बदायूं सीट पर भाजपा के वागीश पाठक निर्विरोध एमएलसी बन गए। सिनोद को भाजपा बदायूं में लोकसभा प्रत्याशी का चेहरा बनाकर मौजूदा सांसद संघमित्रा मौर्य का विकल्प बनाने की तैयारी में है।


पूर्व विधायक सिनोद कुमार शाक्य पंचायत चुनाव 2021 के समय बसपा छोड़कर समाजवादी पार्टी में आए थे। समाजवादी पार्टी ने उनकी पत्नी सुनीता शाक्य को पंचायत चुनाव में जिला पंचायत अध्यक्ष पद का प्रत्याशी बनाया था लेकिन सुनीत शाक्य जिला पंचायत चुनाव हार गई। इसके बाद से पूर्व विधायक सिनोद कुमार शाक्य ने दातागंज विधानसभा से विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारी शुरू की थी लेकिन ऐन मौके पर समाजवादी पार्टी ने उनको टिकट नहीं दिया और दातागंज से कैप्टन अर्जुन को प्रत्याशी बना दिया। अंदरूनी फूट तो उसी दिन से पड़ गई थी लेकिन विधानसभा चुनाव के बाद विधान परिषद का चुनाव आया तो सिनोद शाक्य को समाजवादी पार्टी ने प्रत्याशी बना दिया। बाद में उन्होंने पर्चा वापस लेकर भाजपा को वॉकओवर दे दिया और भाजपा प्रत्याशी वागीश पाठक जीत गए। इसके बाद उन्होंने समाजवादी पार्टी छोड़कर शनिवार को भाजपा की सदस्यता ले ली। इस मौके पर सदर विधायक महेश चन्द्र गुप्ता, विधायक हरीश शाक्य, पूर्व विधायक धर्मेन्द्र शाक्य, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष अशोक भारतीय, गौरव गुप्ता गोल्ड, शारदेंदु पाठक, अजीत वैश्य, एमपी सिंह राजपूत, अंकित मौर्य, मीडिया प्रभारी आशीष शाक्य, पारस गुप्ता मौजूद थे।