• Nationbuzz News Editor

हाथरस, पीड़िता के परिवार से मिले सपा नेता, कार्यकर्ताओं के जमावड़े पर पुलिस का लाठीचार्ज


यूपी। हाथरस में पीड़िता के परिजनों से मिलने के लिए नेताओं का आना जारी है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी शनिवार को पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए बुलगढ़ी गांव पहुंचे थे। रविवार को समाजवादी पार्टी के नेता यहां पर पहुंचे। हालांकि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मौजूद नहीं थे। बताया जा रहा है कि इस दौरान नारेबाजी कर रहे सपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठियां भांजी।


रविवार दोपहर को समाजवादी पार्टी के नेता पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव, अक्षय यादव, सपा विधायक संजय लठार और जयवीर ने पीड़िता के परिवार से मुलाकात की। मामले में पुलिस और प्रशासन की लापरवाही के खिलाफ सपा कार्यकर्ताओं ने इस दौरान यूपी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को हटाने के लिए बल का प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज किया। पुलिस की कार्रवाई में कई सपा कार्यकर्ता घायल हो गए हैं।


इससे पहले समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधिमंडल को आगरा में पुलिस ने रोक दिया था। इस पार्टी ने कहा कि शोकाकुल परिवार से संवेदना जताने जा रहे नेताओं का पुलिस द्वारा जबरन रोकना लोकतंत्र की हत्या है। पार्टी ने कहा कि हम पीड़ित परिवार के न्याय के संघर्ष में कंधे से कंधा मिला कर साथ खड़े हैं। पार्टी ने नेताओं को रोकने की घटना को न्याय युद्ध को कमजोर करने की साजिश करार दिया था।


धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी उच्चतम न्यायालय के वर्तमान न्यायाधीश से जांच की मांग करती है जिससे पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके,हाथरस के प्रशाषन की जांच से पूरा परिवार और समाजवादी पार्टी पूरी तरह से असन्तुष्ट है,परिवार को धमकाने वाले जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की गई है इसका सीधा सा आशय है कि जिलाधिकारी मुख्यमंत्री के बहुत प्रिय हैं या उन्ही के इशारे पर जिलाधिकारी द्वारा पीड़ित परिवार को धमकाया गया था। उन्होंने आगे कहा कि पुलिस द्वारा सपा कार्यकर्ताओं व राष्ट्रीय लोकदल के बरिष्ठ नेता जयंत चौधरी पर जो लाठियां बरसाईं गयीं हैं वो निंदनीय है। आगे कहा कि यदि समय रहते पीड़ित बिटिया को समुचित इलाज मिल गया होता तो आज वो जीवित होती परंतु शाषन और प्रशाषन ने उसकी मृत्यु के बाद भी परिजनों को उस बच्ची का चेहरा भी नहीं देखने दिया और हिन्दू रीति रिवाज़ों के विपरीत रात में उसका अंतिम संस्कार कर दिया ये अनैतिक कृत्य शाषन व प्रशाषन की संवेदनहीनता को दर्शाती है,यदि जल्दी ही पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिला तो समाजवादी पार्टी संघर्ष के लिये तैयार है।

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube