• nationbuzz3

भारत समाचार और दैनिक भास्कर पर आयकर की छापेमारी विपक्ष का मीडिया को डराने का आरोप


खबर देश। भारत के चर्चित अख़बार दैनिक भास्कर के कार्यालयों पर आज सुबह से सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ डॉयरेक्ट टैक्सेज़ (सीबीडीटी) ने छापेमारी की है।


सीबीडीटी की प्रवक्ता सुरभि अहलूवालिया ने बीबीसी से छापोमारी की पुष्टि की है.


सुरभी ने बीबीसी से कहा, ''दैनिक भास्कर के कार्यालयों पर सीबीडीटी का ऑपरेशन जारी है. इस संबंध में अभी हम इतना ही बता सकते हैं.''


ये ऑपरेशन किस बारे में है इस पर सुरभि ने कहा, ''अभी ये जानकारी सार्वजनिक नहीं की जाएगी।


वहीं, दैनिक भास्कर के नेशनल एडिटर लक्ष्मी प्रसाद पंत ने बीबीसी को बताया, 'जयपुर दफ्तर में कुछ टीमें पहुंची हैं. वो क्या जांच कर रहे हैं ये हमें अभी नहीं पता है. मैं दफ़्तर पहुंच रहा हूं.'


दैनिक भास्कर भारत का चर्चित हिंदी अख़बार है. दैनिक भास्कर ने कोविड महामारी के दौरान कई खोजपरक ख़बरें प्रकाशित की हैं जिनमें सरकारों के कोविड प्रबंधन पर सवाल उठाए गए थे।


यूपी के भारत समाचार के एडिटर इन चीफ बृजेश मिश्रा के घर पर भी IT की रेड की गई है और यह छापेमारी सुबह से छापेमारी की जा रही है और यह सब सच दिखाने की कीमत है जो भारत समाचार के एडिटर इन चीफ के यहाँ रेड डाली जा रही है और इस तरह की छापेमारी की जा रही है। इसके साथ ही भारत समाचार के स्टेट हेड वीरेंद्र सिंह के घर पर भी छापा मारा गया है।


विपक्ष ने लगाया मीडिया पर हमले का आरोप


वहीं, इस मामले को लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर हो गया है. विपक्षी नेताओं ने सरकार पर मीडिया की आवाज़ दबाने का आरोप लगाया है।


छापेमारी को लेकर कांग्रेस का सरकार पर हमला


छापेमारी को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला किया है. कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया है, ''रेड जीवी जी, प्रेस की आज़ादी पर कायरतापूर्ण हमला! दैनिक भास्कर के भोपाल, जयपुर और अहमदाबाद कार्यालय पर अब इनकम टैक्स के छापे. लोकतंत्र की आवाज़ को “रेडराज” से नही दबा पाएंगे।


‘’सच को देश भर में निर्भिकता से उजागर कर रहे दैनिक भास्कर मीडिया समूह को दबाने का काम शुरू हो गया है? अपने विरोधियों को दबाने के लिये, सच को सामने आने से रोकने के लिये ईडी, आईटी व अन्य एजेंसियो का दुरुपयोग यह सरकार शुरू से ही करती रही है और यह काम आज भी जारी है? लेकिन ध्यान रखें कि सत्य परेशान हो सकता है लेकिन पराजित नहीं?


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस मामले पर सरकार की आलोचना की है.


उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘दैनिक भास्कर और भारत समाचार पर आयकर छापे मीडिया को डराने का प्रयास है. उनका संदेश साफ़ है- जो भाजपा सरकार के ख़िलाफ़ बोलेगा, उसे बख्शेंगे नहीं. ऐसी सोच बेहद ख़तरनाक है. सभी को इसके ख़िलाफ़ आवाज़ उठानी चाहिए. छापे तुरंत बंद किए जायें और मीडिया को स्वतंत्र रूप से काम करने दिया जाए।


आप सांसद संजय सिंह ने ट्ववीट किया और लिखा " भारत समाचार के कार्यालय पर IT की रेड, भाजपा को अंत की ओर ले जाएगी, उन्होंने लिखा की ये लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ पर करारा हमला है, यूपी की जनता इनको सबक सिखाएगी।