• nationbuzz3

उझानी इंस्पेक्टर, एसएसआई और मुंशी निलंबित, महिला सिपाही से हाथापाई मामले में कार्रवाई


बदायूं। उझानी कोतवाली में महिला सिपाही के साथ हाथापाई के मामले में एसएसपी डॉ. ओपी सिंह ने मुंशी गुलाब सिंह इंस्पेक्टर शैलेंद्र सिंह और एसएसआई अनूप कुमार सिंह को निलंबित कर दिया है।


इससे पहले शुक्रवार को महिला सिपाही ने एसएसपी कार्यालय आकर केरोसिन डालकर आत्मदाह की कोशिश की थी। उससे मामला ज्यादा सुर्खियों में आ गया। बताते हैं कि एसएसपी डॉ. ओपी सिंह एविडेंस देने गए थे। इसी दौरान यह घटना सामने आई थी। वापस आने के बाद एसएसपी में यह कार्रवाई की है।


शुक्रवार को उसने बताया कि 19 सितंबर को उझानी कोतवाली के मुंशी गुलाब सिंह ने उसके साथ मारपीट और हाथापाई की थी। सब कुछ जानते हुए भी इंस्पेक्टर ने मुंशी का साथ दिया था। उस संबंध में वह मुंशी, इंस्पेक्टर और एसएसआई पर कई आरोप लगाते हुए तहरीर दे चुकी थी। उसने इंस्पेक्टर और एसएसआई की भूमिका पर सवाल उठाया था। कहा था कि इंस्पेक्टर और एसएसआई जातिवाद को बढ़ावा दे रहे हैं।


एसएसपी डॉ. ओपी सिंह ने शनिवार को उझानी कोतवाल समेत एसएसआई व मुंशी को सस्पेंड कर दिया है। विभागीय जांच में तीनों फिलहाल दोषी मिले हैं। इधर, महिला सिपाही पर फिलहाल कोई कार्रवाई नहीं हुई है।


एसएसपी डॉ. ओपी सिंह ने जातिवाद के आरोपी उझानी कोतवाल शैलेन्द्र कुमार समेत एसएसआई अनूप सिंह व मुंशी गुलाब सिंह को सस्पेंड कर दिया है।

मनोज कुमार सिंह अब होंगे उझानी के नए कोतवाल और प्रदीप कुमार को फैजगंज बेहटा का प्रभारी निरीक्षक एवं राजेश कुमार को मुजरिया का थानाध्यक्ष बयाना है।