पत्रकार ने ज़हरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या की, सुसाइड नोट भी छोड़ा उकसाने का लगाया आरोप


यूपी। बदायूं में पत्रकारिता के नाम पर अपने निजी स्वार्थ के लिए एक युवा पत्रकार को इतना प्रताड़ित किया की उसे अपनी जान तक गवानी पड़ी है। बुधवार को शहर के मोहल्ला कबूलपुरा निवासी और एक पोर्टल के पत्रकार बशीर अहमद को कुछ पत्रकारिता के नाम पर इतना प्रताड़ित किया कि आज सुबह उसे मजबूरी में ज़हरीला पदार्थ खाकर अपनी जान तक गवा दी है।


जानकारी के मुताबिक मामला सुबह 8:00 बजे का बताया जा रहा है। आपको बताते चलें मृतक बशीर अहमद ने अपने बयान में कुछ लोगों के नाम लिए हैं। फिर पूर्व में उसने अपनी सोशल आईडी पर मरने की बात कही है अपनी मां से माफी भी मांगी। परिजनों को जब तक पता चला तब तक बहुत देर हो चुकी थी। आनन-फानन में उसको हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां पर उसने अपने बयान देते हुए कुछ लोगों पर धार्मिक भावनाओं को बताने वाले के नाम लिए। जिन्होंने उसको मानसिक तौर पर बहुत ज्यादा प्रताड़ित कर रखा था और उसको आत्महत्या करने पर मजबूर कर दिया। पत्रकार ने मरने से पूर्व परिजनों और परिचितों के समक्ष अपने सुसाइड नोट की भी जानकारी दी है।


बयान देने के बमुश्किल 15 मिनट के बाद उसकी मृत्यु हो गई। उसके परिजनों से पूछताछ पर उन्होंने विनती करते हुए कहा, कि हम सभी पत्रकारों से गुजारिश कर रहे हैं कि हमारे बच्चे की मौत को जाया ना जाने दिया जाए, हमें हमारे देश के कानून पर विश्वास है और हम उम्मीद करते हैं कि बदायू पुलिस उन लोगों पर जान लेने आत्महत्या के लिए उकसाने के दोष में सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई करेगी और दोषियों को सजा दिलाएगी ताकि और किसी के भी साथ भविष्य में ऐसा न हो।

पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को हिरासत में ले लिया है और जांच में जुट गई है।