• nationbuzz3

सपा दावेदारों का लखनऊ में डेरा, शहर, दातागंज को लेकर असमंजस 20 जनवरी तक स्थिति साफ


यूपी बदायूं। विधानसभा चुनाव के लिए सपा की ओर से दातागंज और शहर विधानसभा सीट को लेकर स्थिति अब तक स्पष्ट नहीं हो सकी है, पर शेखूपुर, सहसवान और बिसौली विधानसभा सीटों पर पार्टी प्रत्याशी लगभग तय हो गए हैं। बिल्सी सीट गठबंधन के तहत सपा ने महान दल को दे दी है।


जिले में विधानसभा चुनाव के लिए 21 जनवरी से नामांकन शुरू होने हैं। चर्चा है कि सहसवान विधायक ओमकार सिंह अपने बेटे ब्रजेश यादव, शेखूपुर के पूर्व विधायक आशीष यादव अपने बेटे हिमांशु यादव के लिए पार्टी से टिकट हासिल करने में कामयाब हो गए हैं। चर्चा है कि बिसौली से आशुतोष मौर्य का नाम लगभग फाइनल है।


दातागंज के पूर्व विधायक प्रेमपाल सिंह यादव अपने बेटे अवनीश यादव के टिकट के लिए लखनऊ में डेरा डाले हुए हैं।


इधर, दातागंज से दो बार बसपा के टिकट पर विधायक चुने गए सिनोद शाक्य भी लखनऊ में जमे हुए हैं। सिनोद शाक्य पंचायत चुनाव के दौरान सपा में शामिल हुए थे। दातागंज सीट से उनको प्रत्याशी बनाए जाने की ज्यादा संभावना है। पूर्व विधायक और सपा जिलाध्यक्ष प्रेमपाल सिंह यादव के बेटे की भी यहां से दावेदारी होने के कारण प्रत्याशी चयन में देरी हो रही है।

इधर, शहर विधानसभा सीट को लेकर भी असमंजस है। पूर्व विधायक आबिद रजा अपने करीबी आजम खां और पूर्व सांसद सलीम शेरवानी के संबंधों के दम पर टिकट के लिए जोर लगा रहे हैं। हालांकि, वह इन दिनों सपा में नहीं हैं। हाल ही में बसपा छोड़ सपा में शामिल हुए काजी मोहम्मद रिजवान को भी शहर सीट से मजबूत दावेदार के रूप में देखा जा रहा है।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि 20 जनवरी तक सपा की ओर से शहर और दातागंज सीट पर स्थिति साफ कर दी जाएगी।

-

पार्टी नेतृत्व प्रत्याशियों पर विचार कर रहा है। मैं लखनऊ में ही हूं। अभी पार्टी नेतृत्व की ओर से किसी भी विधानसभा सीट पर अधिकारिक रूप से प्रत्याशियों का एलान नहीं हुआ है। सहसवान, बिसौली, शेखूपुर सीट को लेकर जो चर्चां हैं उतना ही मुझे पता है। शहर और दातागंज सीट पर भी जल्द प्रत्याशी चयन कर लिया जाएगा।

प्रेमपाल सिंह यादव, सपा जिलाध्यक्ष