• Nationbuzz News Editor

सुल्तानुल हिन्द हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती का 808 व उर्से मुबारक 2 मार्च को मनाया जायेगा


रजस्थान। अजमेर में गरीव नवाज़ हज़रत सुल्तानुल हिन्द हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती का 808 व उर्से मुबारक 2 मार्च सोमवार छटी शरीफ के साथ मनाया जायेगा दुनिया भर से उर्स में जायरीन आ रहे है।

अजमेर. ख्वाजा साहब के 808वें उर्स में शिरकत करने के लिए जायरीन की आवक तेज होने से दरगाह क्षेत्र में जबरदस्त चहल पहल है। शुक्रवार को उर्स के जुमे की नमाज होने के कारण गुरुवार रात भर जायरीन की आवक का सिलसिला लगातार चलता रहा। कायड़ विश्राम स्थली में गुरुवार रात तक करीब 750 बसें और 40 हजार से अधिक जायरीन पहुंच चुके। विश्राम स्थली सहित विभिन्न स्थानों पर लोग ठहरे हुए हैं। लगभग लाखों जायरीन के अब तक अजमेर पहुंचने का अनुमान है।


सूफी संत हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह सदियों से पूरे विश्व में भाइचारे और साम्प्रदायिक सद्भाव का प्रतीक मानी जाती है। ख्वाजा साहब की मजार शरीफ पर चढ़ाई जाने वाली मखमली चादरें भी खुद में ऐसी ही खुशबू और रंग समेटे रहती हैं। ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह पर फूलों के साथ मखमली चादर चढ़ाने की रस्म होती है। यह ख्वाजा साहब का करम ही माना जाता है कि मखमली चादरें तैयार करने में मुस्लिम सहित अनेक हिंदू परिवार भी शिद्दत से जुड़े हुए हैं।

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube