• Nationbuzz News Editor

बदायूं डीएम के निर्देश जनपद में आने वाले प्रवासी मजदूरों को न हो काई परेशानी


बदायूं खबर नेशन बज़। जनपद में आने वाले प्रवासी मजदूरों का पंजीकरण कर रहे लेखपालों को डीएम ने निर्देश दिए कि प्रवासी मजदूरों का आधार एवं मोबाइल नम्बर पंजीकरण कराएं। स्क्रीनिंग में संदिग्ध पाए जाने वाले प्रवासी मजदूरों का सेम्पल लेकर उन्हें चिन्हित स्थानों पर क्वारंटीन किया जाए तथा स्क्रीनिंग में सही पाए जाने वाले प्रवासी मजदूरों का उनका पंजीकरण कर राहत सामग्री किट देकर उन्हें उनके गंतव्य तक छुड़वाया जाए।


मंगलवार को जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने द्रोपदी देवी सरस्वती विद्या इण्टर कॉलेज का निरीक्षण किया। उन्होंने सिटी मजिस्ट्रेट अमित कुमार को निर्देश दिए कि इस विद्यालय में क्वारंटाइन लोगों के लिए शौचालय आदि की व्यवस्था साफ सुथरी ठीक होनी चाहिए। क्वारंटीन लोगों के विस्तर, भोजन आदि व्यवस्थाएं चाक-चैबंद रखी जाए। किसी को किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। डीएम ने निर्देश दिए कि सारी व्यवस्थाएं समय से उपलब्ध रहें, जिससे लोगों को किसी प्रकार की कोई समस्या न होने पाए। सभी श्रमिकों के लिए गुणवत्ता युक्त भोजन की व्यवस्था रहे। उन्हें समय-समय पर नाश्ता व भोजन आदि उपलब्ध कराया जाए। किसी अन्य के संपर्क में न आने पाए का विशेष ध्यान रखा जाए। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन, पानी व रहने की गई व्यवस्थाएं दुरुस्त रहें। जनपद में आने वाले सभी प्रवासी श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण कर सही पाए जाने पर उनके घर भेजा जा रहा है। जहां वह 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन रहेंगे।


चिन्हित स्थानों पर ही डाला जाए कूड़ा: डीएम


डीएम ने नगर पालिका एवं नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिए कि मलेरिया प्रभावित क्षेत्रों में प्राथमिकता के रूप में साफ-सफाई एवं छिड़काव कराना सुनिश्चित करें। मच्छरों का प्रकोप रोकने के लिए तालाबों में गम्बूसिया मछली छोड़ी जाए।


मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने नगर पालिका एवं नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारियों के साथ सफाई व्यवस्था के सम्बंध में बैठक आयोजित की। उन्होंने निर्देश दिए कि शहर का कूड़ा इधर-उधर न डालकर चिन्हित स्थानों पर ही डाला जाए। ईओ इधर-उधर पहले से पड़े कूड़े को या तो उठवाकर चिन्हित स्थानों पर डलवाएं या फिर मिट्टी डालकर भूमि समतल करा दें। शहर में किसी भी प्रकार की गंदगी नज़र नहीं चाहिए। वर्षा ऋतु को दृष्टिगत रखते हुए नाले-नालियों की साफ-सफाई बरसात से पहले ही करा लें, जिससे नाले-नालियाँ चोक न हों और उनका गंदा पानी सड़कों पर न आने पाए। जिन नाले-नालियों का निर्माण होना है, उनका अभी से निर्माण कार्य कराना सुनिश्चित करें।

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube