• nationbuzz3

मंडी समिति स्थित सपा कार्यकर्ताओं का लगा जमावड़ा बोले, EVM की करेंगें रखवाली


यूपी बदायूं। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि वाराणसी में ईवीएम पकड़े जाने का समाचार प्रदेश की हर विधानसभा को चौकन्ना रहने का संदेश दिया है इसी को लेकर देर रात बदायूं में भी मंडी समिति स्थित सपा कार्यकर्ताओं ने सतकर्ता बड़ा दी है जिसके बाद पुलिस बल बढ़ाया गया है। मतगणना से 36 घंटे पहले मंडी समिति गेट पर मंगलवार रात सपा व बसपा कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ जुट गई। इतना ही नहीं दातागंज व बिल्सी के सपा तो दातागंज के बसपा प्रत्याशी भी खुद यहां पहुंच गए। यहां प्रत्याशियों ने खुलकर एग्जिट पोल पर सवाल उठाए और बनारस व बरेली में पोस्टल बेलेट कचरे के ढेर में मिलने का हवाला देते हुए सुरक्षा के लिहाज से यहां पहुंचने की सफाई दी। देर रात तक अफसर भीड़ को समझाने में जुटे थे और दो थानों की पुलिस मौके पर तैनात हो गई है।


मंगलवार दोपहर में डीएम दीपा रंजन व एसएसपी डॉ. ओपी सिंह ने मंडी परिसर में स्थित ईवीएम स्ट्रांगरूम की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था। इधर, रात को सोशल मीडिया पर पोस्टल बेलेट व ईवीएम कचरे के ढेर में मिलने के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए तो माहौल बदल गया।


रात तकरीबन 10 बजे मंडी समिति गेट पर भारी भीड़ जुट गई। भीड़ में दातागंज से सपा प्रत्याशी कैप्टन अर्जुन यादव के अलावा बसपा प्रत्याशी रचित गुप्ता के अलावा बिल्सी विधानसभा से सपा-महानदल गठबंधन प्रत्याशी चंद्रप्रकाश भी मौके पर जा पहुंचे। मामले की जानकारी पर अधिकारी भी चौंक गए और सदर कोतवाली समेत सिविल लाइंस थानों की पुलिस मौके पर भेज दी गई। पीएसी भी तैनात की गई। जबकि भीतर सीपीएमएफ भी सर्तक हो गई।


दातागंज से सपा प्रत्याशी कैप्टन अर्जुन का कहना है कि सपा मुखिया का निर्देश है कि बीजेपी अपनी नाकामी छिपाने के लिए एग्जिट पोल पर अपनी जीत दिखा रही है। ताकि हम लोग निराश व हताश हो जाएं। हम अपने लोगों का मनोबल बढ़ाने आए हैं। बरेली में कूड़ेदान की गाड़ी में बेलेट पेपर व सरकारी मोहरें कचरे में मिलने की घटना का हवाला भी दिया। साथ ही यह भी कहा कि उनका चुनाव आयोग पर पूरा भरोसा है। फिर भी सतर्कता बरत रहे हैं।


दातागंज से बसपा प्रत्याशी के मुताबिक ईवीएम व पोस्टल बेलेट यहां-वहां मिलने की सूचना पर पार्टी हाइकमान के कहने पर वह यहां पहुंचे हैं। कहा कि पोस्टल बेलेट का यहां कोई अता-पता नहीं हैं। आरोप यह भी लगाया कि हेराफेरी पोस्टल बेलेट से होगी। बाकी प्रशासन की पूरी स्ख्ती है।