• Nationbuzz News Editor

लॉकडाउन के चलते मुस्लिम समाज ने शबे बरात की इबादत पर घरों में रहकर दुआ की


बदायूं। गुरुवार रात को जिलेभर में लॉकडाउन के चलते शबे बरात पर मस्जिदों के दरवाज़े बंद दिखाई दिए काज़ी ए जिला का फरमान भी था कि शब-ए-बरात में घरों पर होगी इबादत, मुस्लिम समाज के लोगों ने शबे बरात की इबादत घरों में मनाई और दुआ की या अल्लाह अपने प्यारे रसूल के सदके में हमारे वतन मुल्के हिंदुस्तान की हिफाज़त फरमा और सभी देशवासियों को आफतो बलात से बचा, लॉक डाउन के चलते मुस्लिम समाज के लोगों से घरों में ही इबादत करने की अपील की गई थी। जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा गया था जिसलो लेकर पालन किया गया। काज़ी ए जिला का फरमान और अपील की थी कोरोना वायरस के संक्रमण के बचाव के लिए लॉक डाउन चल रहा है। ऐसे में सभी मुस्लिम समाज के लोग शबे बरात के मौके पर घरो में ही इबादत करें। सभी रातों से ज्यादा अहम मानी जाती है। जैसे ईद की रात ,बकरईद की रात, शबे मेअराज की रात, रमजान में शबे कद्र और पांचवी रात शबे बरात है। जो इस बार नौ अप्रैल को घरों में मनाई । इस रात में मुसलमानों को जिक्र अजकार विरद, वजीफे, तिलावते कुरआन, दराज़ी उम्री और नफ्ल नमाजें अदा और दुआएं की लोग घरों में इबादत में मशगूल दिखाई दिए।