• nationbuzz3

बदायूं में जमाखोर सक्रिय खूब हो रही कालाबाज़ारी, रोज़मर्रा चीज़ों के आसमान छू रहे रेट सिस्टम मौन


यूपी बदायूं। शहर में जमाखोर सक्रिय हो गए है खूब धड़ल्ले से हो रही कालाबाज़ारी, रोज़मर्रा चीज़ों के आसमान छूने लगे है रेट जिला प्रशासन पूरी तरह मौन है। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच रेमडेसिविर की कालाबाजारी और जमाखोरी तेज हो गई है। ऐसे में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा कदम उठाया है। सीएम योगी ने रेमडेसिविर की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। वहीं कानपुर में रेमडेसिविर की खेप के साथ पकड़े गए तीनों आरोपियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत कार्रवाई की गई है।


इधर बदायूं में पूरे शहर में जमाखोरों ने अपना काम कर लिया है। वे अब सरकार से उम्मीद कर रहे हैं कि कब लॉकडाउन लगाया जाए। उनके लिए आपदा ही अवसर है। हर साल ऐसे ही अवसर आते रहें वे यही चाहते हैं। मात्र पिछले दो-तीन दिनों में खाने-पीने की चीजों पर पैसे बढ़ गए हैं।घी-तेल,दाल, अनाज पर पैसे बढ़े हैं तो वहीं नवरात्रि व रमज़ान माह के चलते फलों के दाम भी आसमान छूने लगे हैं। लॉकडाउन लगने का मतलब है मनमानी कीमतें वसूल करना। जमाखोर गिद्ध अब लॉकडाउन के इंतजार में हैं कब लॉकडाउन लगे और गरीब आम लोगों को नोंचना शुरू करें उधर नगर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी में रविवार को संपूर्ण लॉक डाउन की खबर आते ही जमाखोर खासतौर से गुटखा व्यापारी लाॅक डाउन की संभावनाओं को देखते हुए व्यापारियों ने गुटखा पान मसाला के दाम बढ़ा दिए हैं पांच बिकने वाला घुटका 7 से 8 रूपए तक का बेचा जा रहा है।


यहां के व्यापारियों ने गुटखा व पान मसाला समेत रोज़मर्रा चीज़ों के दाम आसमान छू रहे चीनी, आटा, सरसों का तेल को ऊंचे दामों पर बेचना शुरू कर दिया न कोई रोक न कोई प्रतिबंध हे और ना ही कोई आने की जाने पर पाबंदी है इसके बावजूद भी थोक व्यापारियों ने लॉक डाउन की संभावनाओं को देखते हुए गुटखा व अन्य सामान अपने अपने गोदामों में जमा कर लिया है ओर ओवर रेट में बेच रहे है गुटके का जो पैकेट 120 का होता था 150 का बेच रहे हैं इस पर प्रशासन कि कोई नजर नहीं लोगों की आंखों में धूल झोंक रहे हैं और दिखा रहे हैं लॉक डाउन लगने वाला है।


जबकि पिछले साल लाॅक डाउन के चलते पुलिस ने कई व्यापारी के छापे मारे और माल भी ज़ब्त किया गया और कई लोगों के चालान भी हुए और उसके बावजूद भी थोक व्यापारी ब्लैक करने से बाज नहीं आ रहे हैं।

गिद्ध अब लॉकडाउन के इंतजार में हैं। कब लॉकडाउन लगे और जनता को नोंचना शुरू करें।


कोरोना का असर:आसमान छू रहे नींबू के दाम, एक सप्ताह में 5 गुना अधिक बढ़ गये दाम; आलू के भाव में भी हुआ इजाफा

नींबू के दाम आसमान छू रहे हैं। एक सप्ताह पहले तक 30 से 40 रुपए किलो के भाव बिकने वाला नीबू इस समय फुटकर बाजार में 200 रुपये किलो बिक रहा है। व्यापारी बताते हैं कि नीबू के दामों में बेतहासा वृद्धि के पीछे कोरोना और नवरात्रि में इसकी भारी डिमांड होने के साथ ही फुटकर दुकानदारों द्वारा की जा रही मुनाफाखोरी भी जिम्मेदार है। नींबूू को बिटामिन सी का बेहतरीन स्रोत माना जाता है। वहीं नवरात्रि होने की वजह से आलू के दाम भी आसमान छू रहे हैं।