• nationbuzz3

खादी का आशीर्वाद, अफसरों की खुशामद ने बनाया घोटालेबाज सचिव पर कार्रवाई


यूपी बदायूं। घोटालेबाज सचिव खादी के आशीर्वाद में लंबे समय तक एक नहीं दो-दो दर्जन ग्राम पंचायतों का सचिव रहा और जमकर घोटाला किया। बार-बार घोटाला खुले और उसके बाद खादी ने बचा लिया। रिकवरी का आदेश होते ही खादी ने फिर कार्रवाई से बचा लिया और तबादला करा डाला है। जिसके बाद साफ हो पाया है कि अफसरों की खुशामद ने सचिव को घोटालेबाज बना दिया। कमाई हाथ लगाने के लिये ज्यादा से ज्यादा ग्राम पंचायतों का चार्ज देते रहे। विवादों में फंसने के बाद भी एक दर्जन ग्राम पंचायतों पर सचिव घोटाले करते हुये तबादला हुआ है।


सोमवार को सालारपुर ब्लाक में तैनात सचिव पर कार्रवाई की गाज गिर गयी है। सचिव को तबादला के बाद रिलीव कर दिया गया। बता दें कि घोटालेबाज सचिव केशव भारती का तबादला तो 29 जून को कर दिया गया था, अब रिलीव कर सचिव की ग्राम पंचायतों को आंवटित कर दिया गया है। सचिव फिर से कार्रवाई से बच गया है। नौ लाख से अधिक घोटाला के मामले में मुकदमा भी दर्ज होना चाहिये था और जेल भी जाना चाहिये था। मगर खादी के आशीर्वाद ने बचा लिया। सचिव अब दहगवां के लिये रिलीव कर दिया गया है।


विदित हो कि घोटाला में फंसने के दौरान सचिव पर 21 ग्राम पंचायतों का चार्ज था और बाद में घटकर 12 ग्राम पंचायतों का चार्ज दे दिया गया था।


नेताजी के इलाके में भेजा घोटालेबाज सचिव


सचिव केशव भारती घोटालों के मामले में कार्रवाई फंस सकता थे मगर सचिव बच निकले। उन्हें प्रशासन ने नगर विकास रज्यमंत्री के गांव दहगवां भेज दिया।


विभागाध्यक्ष ने बचाया


घोटालेबाज सचिव केशव भारती जिला विकास विभाग के ग्राम विकास अधिकारी हैं। मार्च महीने में घोटाला पकड़ने के बाद डीपीआरओ डॉ. सरनजीत सिंह कौर ने अप्रैल महीने में बीडीओ सालारपुर और जिला विकास अधिकारी को पत्र लिखा था। पत्र लिखकर एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिये गये थे। मगर न तो बीडीओ सालारपुर ने मुकदमा दर्ज कराया, न ही जिला विकास अधिकारी ने सचिव पर मुकदमा दर्ज कराया और निलंबित भी नहीं किया है। सचिव इसलिये कार्रवाई से बच गया वो अफसरों की खुशामद करता था।


सचिव केशव भारती ने जो भी किया है वह उसके लिये दोषी पाये गये हैं। डीएम स्तर से सचिव पर कार्रवाई की गयी है, कार्रवाई के बाद तबादला कर दिया गया है और रिलीव भी कर दिया है। अब उन ग्राम पंचायतों का भी सचिवों को आंवटित कर दी गयीं हैं।


मोहम्मद खालिद, एडीओ पंचायत सालारपुर ब्लाक