• nationbuzz3

अखिलेश यादव ने कहा प्रदेश में करप्शन-महंगाई चरम पर BJP ने सिर्फ सपने दिखाए


यूपी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसमें उन्होंने महंगाई, रोजगार और करप्शन को लेकर BJP को आड़े हाथ लिया। अखिलेश ने कहा कि BJP धोखे, छल के दलदल में झूठ का फूल खिला रही है। मुझे खुशी है कि प्रदेश की जनता सपा की तरफ देख रही है। जिस तरह से दूसरे दलों के लोग आ रहे हैं। मुझे पूरा भरोसा है कि UP की जनता 400 से ज्यादा सीटें जिताकर SP की सरकार बना देगी।


1. यूपी में करप्शन चरम पर

यूपी में करप्शन चरम पर है। पहली बार ऐसा हुआ जब एक अधिकारी दूसरे अधिकारी और एक मंत्री दूसरे मंत्री पर आरोप लगा रहे हैं। यहां तक कि एक डिप्टी सीएम दूसरे डिप्टी सीएम पर करप्शन के आरोप लगा रहा है। महंगाई और बेरोजगारी बढ़ी है। जिस तरह से सपने भाजपा ने दिखाए थे, आज साढ़े चार साल से ज्यादा समय हो गया है। BJP अपना मेनिफेस्टो पूरा नहीं कर सकी है।


2. सब कुछ बेच रही है BJP सरकार

अखिलेश ने कहा कि BJP लगातार चीजों को बेच रही है। एयरपोर्ट दिखाई दिया तो एयरपोर्ट बेच दिया, हवाई जहाज दिखाई दिया तो हवाई जहाज बेच दिया। रेलवे स्टेशन की जमीनें बेच दीं। नौकरी, महंगाई कम करने के, इन्वेस्टमेंट के, आखिर दिखाए गए सपने कहां है? अखिलेश ने कहा कि आय दोगुना का दावा करने वाले लोगों ने आज महंगाई दोगुना कर दी है।


3. डीजल-पेट्रोल का मुनाफा कहां जा रहा है?


अखिलेश ने डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के सवाल पर कहा कि आखिरकार डीजल और पेट्रोल का जो मुनाफा है, वह कहां जा रहा है? जब इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑयल के दाम कम थे, तब भी जनता से वसूली हो रही थी। तब भी मुनाफा वसूला जा रहा था। आज भी वसूला जा रहा है। डिफेंस और इन्वेस्टमेंट मीट प्रोग्राम के बाद यूपी का यूथ जानना चाहता है कि नौकरी कहां मिल रही है? सरसों का तेल आम आदमी की पहुंच से बाहर है।


4. 9 मेडिकल कॉलेज का इनॉगरेशन छलावा है


चुनाव करीब है, इसलिए मेडिकल कॉलेजों का इनॉगरेशन कर रहे हैं। सवाल उत्तर-प्रदेश के हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर का है। साढ़े 4 साल में एक भी एक्सप्रेस-वे नही बना पाएं। हमारी सरकार ने समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस दिया था। जमीन का अधिग्रहण भी शुरू कर दिया था। भाजपा सरकार ने नाम बदल दिए, लेकिन काम पूरा नही किया। सड़क का एलाइनमेंट तक ठीक नही है। एक्सप्रेस-वे के किनारे आम सुविधाएं भी नहीं दिया।