top of page
  • Mohd Zubair Qadri

जिले में आ गयी जहरीली शराब, नहीं लगा सुराग तस्करों के लिये मुफीद जगह


यूपी बदायूं। जिले में जहरीली शराब की खेप पहुंच गयी और यही पर तैयार होकर गांव-गांव वितरित भी होने लगी शहर में भी बिक रही लेकिन पूरे जिले के खुफिया तंत्र से लेकर पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। आबकारी विभाग की कमान संभाले बैठे जिम्मेदार भी केवल कच्ची शराब बनाने वालों की धरपकड़ कर कोरम पूरा करते हैं। शुक्रवार को जब इसी ढिलाई की कलई खुली तो अब किसी को जवाब देते नहीं बन रहा है। इससे पहले भी बदायूं कई साल से गैर प्रांतों की शराब सप्लाई का अड्डा बन चुका है लेकिन पुलिस व आबकारी महकमे के जिम्मेदार इन तस्करों को एकाध बार ही पकड़ पाते हैं, जबकि भारी मात्रा में यहां से शराब का आदान-प्रदान होता देखा जाता है।


बरेली, संभल, रामपुर, फर्रुखाबाद व कासगंज जिलों की सीमा से जुड़ा बदायूं शराब तस्करों का टर्निंग प्वाइंट बन गया है। तस्कर आसानी से यहां पहुंचने के बाद आसपास के जिलों की सीमा में दाखिल हो जाते हैं। कहीं हाईवे के जरिए तो कहीं लिंकरोडों की मदद से शराब एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाई जाती है। जिले की एक टीम में शामिल कुछ सिपाहियों के भी इन तस्करों से मिलीभगत है।


शहर से सुरक्षित गुजरते हैं तस्कर


गैर प्रांत की शराब की खेप पुलिस ने कई बार पकड़ी है। कभी डाकपार्सल वाहन में उझानी पुलिस ने शराब बरामद की तो कभी वजीरगंज, अलापुर आदि थानों की पुलिस ने भी शराब पकड़ी लेकिन खासियत यह है कि तस्कर शहरी इलाके से बिल्कुल आसानी से गुजर जाते हैं। अभी तक शहर में कोई भी ट्रक पकड़े जाने की कार्रवाई भी लंबे समय से सामने नहीं आई है।

bottom of page