• nationbuzz3

पॉवर कारपोरेशन की लापरवाही ने समूचे शहर के लोगों को आफत में डालकर रख दिया है


यूपी बदायूं। पॉवर कारपोरेशन की लापरवाही ने समूचे शहर के लोगों को आफत में डालकर रख दिया है। कुछ इलाके तो ऐसे हैं, जिनसे सिर उठाकर गुजरा नहीं जा सकता। वजह है कि सिर उठाते ही झूलकर नीचे आई ओवरहेड लाइनों में दौड़ रहा करंट जान ले लेगा। अगर जमीन से नजर हटाई तो जगह-जगह खुली पड़ी अंडरग्राउंड केबिल काल का ग्रास बना डालेगी। उस पर भी जिम्मेदार बकाया वसूली के लिए अभियान चलाने की कोशिशों में हैं। वो भी उन हालात में जब हर तबका अघोषित कटौती और लाइनों के मकड़जाल से बौखलाया बैठा है।


पॉवर कारपोरेशन के कुछ कर्मचारियों द्वारा शहर में साजिश के तहत अंधाधुंध कटौती की गई। मामला शासनस्तर तक पहुंचा और एक नहीं बल्कि दो अधिशासी अभियंताओं पर गाज गिरी। इधर, कटौती के कारण पुलिस ने भी गोपनीय रिपोर्ट में स्पष्ट कर दिया था कि कभी भी जनाक्रोश सड़कों पर दिख सकता है। कटौती तो किसी तरह लोग पॉवर कारपोरेशन के जिम्मेदारों को कोसते हुए झेल रहे हैं लेकिन शेखपट्टी इलाके में गुरुवार सुबह करंट से प्रवक्ता की मौत के बाद सभी की नजर विभाग की कारगुजारियों पर टिक गई है।


इन इलाकों में हाल बेहाल


शहर की मीराजी चौकी से कालीसड़क जाने वाली गली में इन दिनों केबिल झूलकर बेहद नीचे आ गई हैं। वहीं शेखपट्टी इलाके में भी यही हालात हैं। इतना ही नहीं मिर्घाटोला, चौबे मोहल्ला, कूंचा पांडा समेत पटियाली सराय आदि इलाकों में भी केबिलों का मकड़जाल नीचे आ चुका है। यहां तक कि केबिल बॉक्स भी हवा में झूलकर हादसों को न्यौता दे रहे हैं लेकिन इस ओर देखने वाला कोई नहीं है।